इटारसी: कोरोना नियमों के उल्लंघन पर प्रशासन की कार्यवाही, 63 दुकानें सील, दो पर एफआईआर

63 कपड़ा व्यापारियों की दुकानों को बंद कर सील कर दिया है। वही दो लोगों पर एफआईआर (FIR) भी की गई।

इटारसी, राहुल अग्रवाल। इटारसी (Itarsi) शहर में कोरोना (Corona) पर काबू पाने और लॉकडाउन (Lockdown) का पालन करने के लिये स्थानीय प्रशासन द्वारा बाजार के व्यापारियों के साथ आमजन से भी आग्रह किया, लेकिन व्यापारी है की सुनने को तैयार नहीं है, कोरोना कर्फ्यू (Corona curfew) के दौरान लगातार प्रशासन द्वारा बाजार में आह्वान और छापामारी की जा रही है, बावजूद इसके प्रशासन के साथ कपड़ा व्यापारी के साथ अन्य दुकानदार चूहे- बिल्ली का खेल, खेल रहे है, हर रोज की शिकायत मिलने के बाद आज एसडीएम मदन सिंह रघुवंशी पूरा कपड़ा बाजार ही आगामी आदेश तक सील कर दिया है। वही पुलिस द्वारा सड़को पर बेवजह घूमने वालो को सबक सिखाने के लिये दंडात्मक कार्यवाही भी की जा रही है।

यह भी पढ़ें…मप्र में 12400 नए केस और 97 ने तोड़ा दम, सीएम बोले- कर्फ्यू के सफल परिणाम

जानकारी के अनुसार इटारसी शहर में जब से प्रशासन ने लगाया लॉकडाउन है उस समय से बाजार के दुकानदारों ने प्रशासन की नाक में दाम कर रखा था, दरअसल किराना दुकानों को होम डिलेवरी की प्रशासन ने छूट दी थी, लेकिन कपड़ा व्यापारियों को इस तरह की कोई छूट नहीं दी गई जिसके बाद व्यापारी चोरी-छिपे दुकान खोल कर लॉकडाउन का उलंघन करते दिखाई दे रहे थे, इतना ही नहीं कपड़ा दुकानदारों ने अपने कर्मचारियों को प्रशासन की टीम आने की जानकारी के लिये मुखबिर करने दुकान के आसपास खड़ा कर रखा था, जिसके चलते जैसे ही टीम बाजार में आती तो मुखबिर दुकानदार को सूचना देते थे, जिसके बाद दुकानदार ग्राहकों को दुकान से बाहर निकालकर शटर बंद कर भाग जाते थे, लेकिन आज प्रशासन ने यह आंख मिचोली का खेल एक हफ्ते के लिए बंद कर दिया और 63 कपड़ा व्यापारियों की दुकानों को बंद कर सील कर दिया है। वही दो लोगों पर एफआईआर (FIR) भी की गई।

बतादें कि बाजार की सड़कों पर बेवजह घूमने वालो को घरों में बैठालने के लिये पुलिस ने अब डंडे और होज पाइप का सहारा लिया है, आज बाजार में पुलिसकर्मियों ने बाजार में बेवजह घूमने वालो की जमकर पिटाई की और आगे से बाजार फालतू न घूमने समझाइश दी।

यह भी पढ़ें…समीक्षा बैठक करने सीहोर पहुंचे मंत्री विश्वास सारंग, कई मुद्दों पर की चर्चा