17 लाख के प्याज में से ट्रक ड्राइवर और क्लीनर ने आधा माल बेचा, आरोपी हिरासत में

इटारसी, राहुल अग्रवाल। प्याज की बढ़ती कीमतों के बीच जमाखओरी पर लगाम लगाने के लिए केंद्र सरकार ने मंगलवार को ही स्टॉक सीमा कम करने की घोषणा की है। सरकार ने  खुदरा और थोक विक्रेताओं के लिए प्याज की स्टॉक सीमा घटाकर मौजूदा स्तर से 50 फीसदी कम कर दी है। इसी बीच सोने की कीमत तक जा पहुंचे प्याज की चोरी की घटनाएं भी सामने आ रही हैं।

शाजापुर से पटना जा रहे प्याज से भरे ट्रक में से आधा ट्रक प्याज ड्राइवर और क्लीनर ने इटारसी में बेच दिया। इस ट्रक में करीब 17 लाख का प्याज भरा था। पटना के लिए प्याज लेकर निकला ये ट्रक होशंगाबाद में पकड़ाया है। इससे पूर्व इस ट्रक में भरा आधा प्याज इटारसी में बिक चुका था और होशंगाबाद में बाकी प्याज बेचने के दौरान पुलिस ने ट्रक सहित आरोपियों को पकड़ लिया। सूत्रों के मुताबिक जिसे इटारसी में प्याज बेची हई है, वह भी हिरासत में है।

जानकारी के अनुसार शाजापुर से 21 अक्टूबर को ट्रक क्रमांक एमपी 09, एचएच 1586 में प्याज की 440 कट्टी भरकर साजन ट्रांसपोर्ट के माध्यम से पटना के लिए बुक किया गया था। सूत्रों के अनुसार ट्रक में करीब 17 लाख रुपए का माल भरा था। इस ट्रक को 25 अक्टूबर को पटना पहुंचना था लेकिन किसी ने व्यापारी रामेश्वर गुजराती को जानकारी दी कि जिस ट्रक से माल भेजा है, वह इटारसी-होशंगाबाद में देखा गया है। व्यापारी ने तत्काल शाजपुर पुलिस से मदद ली और इटारसी आ गए। यहां ट्रक आधा माल उतारकर बेचा जा चुका था। पता चला कि ट्रक होशंगाबाद गया है तो व्यापारी पुलिस के साथ होशंगाबाद मंडी पहुंचे और वहां से ट्रक को लेकर इटारसी पुलिस थाने आ गये। बताया जाता है कि ट्रक  के चालक और क्लीनर ने ही इस चोरी की घटना को अंजाम दिया है। लेकिन, उनके पास नकली बिल्टी मिलने से मामला संदिग्ध जान पड़ता है और इसके पीछे और भी लोगों की भूमिका होने से इनकार नहीं किया जा सकता है। फिलहाल पुलिस मामले में कुछ भी कहने को तैयार नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here