इटारसी, राहुल अग्रवाल। पथरोटा पुलिस ने ग्राम साकई के जंगल में हुई युवक की हत्या की गुत्थी सुलझा ली है। मामले में चार आरोपी गिरफ्तार किए हैं जबकि एक आरोपी की गिरफ्तारी होना शेष है।

पुलिस के अनुसार आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए 2 टीम बनाई गई थीं जिनमें थाना प्रभारी प्रज्ञा शर्मा सहायक उपनिरीक्षक भोजराज बरबड़े शिव प्रसाद तिवारीप्रधान आरक्षक अनिल ठाकुर , भागीरथ मालवीय, आरक्षक टिल्ल उईके, सियाराम, टीटू, संदीप धुर्वे, संजय और पिंटू को शामिल किया।

पुलिस के अनुसार जयंत दुबे ने राजेश विश्वकर्मा की लड़की को बहला-फुसलाकर ले गया था और राजेश विश्वकर्मा के साथ घर में घुसकर मारपीट भी की थी। इसी बात को लेकर उनकी रंजिश थी। कमलेश विश्वकर्मा ने उसके दोस्त रामजीवन यादव, राहुल बरकड़े, लाल सिंह परते तथा जितेंद्र उर्फ जूली के साथ बरगद के पेड़ के नीचे सोंठिया में योजना बनायी। 10 अक्टूबर की रात 9 बजे रामजीवन यादव को भेजकर जयंत दुबे को बरगद के पेड़ के नीचे बुलाया और शराब पीने के बहाने से मोटरसाइकिल पर कमलेश एवं जितेंद्र ने जयंत दुबे को बीच में बैठाकर सांकई के जंगल में ले गए। राहुल उसकी मोटरसाइकिल से लाल सिंह, रामजीवन और मुन्ना यादव को लेकर इनके पीछे की जंगल में पहुंचे। मौका देखकर कमलेश, जितेंद्र, राहुल, रामजीवन तथा लाल सिंह ने उसके साथ मारपीट की। राहुल और जयंत दुबे के हाथ-पैर पकड़े तथा कमलेश ने रामजीवन के लाल रंग के शर्ट को फाड़कर जयंत दुबे का गला घोंटा एवं सीने, पेट और पीठ पर चोट पहुंचाई। जितेन्द्र उर्फ लल्ला ने पास में पड़ा पत्थर उठाकर जयंत का सिर कुचल दिया और रामजीवन ने भी जयंत से मारपीट की जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गयी।