कोरोना : नवरात्रि में नही होंगे देवी के दर्शन, सलकनपुर समिति ने लिया निर्णय

सांसद भार्गव ने कहा कि सभी को उम्मीद थी कि कोरोना(corona) महामारी जल्दी समाप्त हो जाएगी परंतु अभी भी संक्रमण फैलना बंद नहीं हुआ है। नवरात्रि पर्व के दौरान सलकनपुर(salkanpur) मंदिर में लाखों की संख्या में श्रद्धालु दर्शन करने आते हैं और ऐसी परिस्थिति में कोरोना संक्रमण को रोकना हमारी पहली प्राथमिकता है।

Salkanpur

होशंगाबाद, राहुल अग्रवाल। प्रसिद्ध देवीधाम सलकनपुर(Salkanpur) मंदिर कोरोना(corona) संक्रमण के कारण 16 अक्टूबर से 2 नवंबर तक बंद रहेगा। सांसद रमाकांत भार्गव की अध्यक्षता में हुई मंदिर ट्रस्ट, जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों की बैठक में यह निर्णय लिया गया। 17 अक्टूबर से शारदीय नवरात्रि प्रारंभ हो रही है। ऐसे में मंदिर में होने वाली भारी भीड़ की संभावना को देखते हुए यह निर्णय लिया है। बैठक में स्थानीय जनप्रतिनिधियों के से चर्चा कर उनके सुझाव भी लिए गये।

सांसद भार्गव ने कहा कि सभी को उम्मीद थी कि कोरोना(corona) महामारी जल्दी समाप्त हो जाएगी परंतु अभी भी संक्रमण फैलना बंद नहीं हुआ है। नवरात्रि पर्व के दौरान सलकनपुर(salkanpur) मंदिर में लाखों की संख्या में श्रद्धालु दर्शन करने आते हैं और ऐसी परिस्थिति में कोरोना संक्रमण को रोकना हमारी पहली प्राथमिकता है। इस समय किसी प्रकार का जोखिम लेना नुकसानदायक हो सकता है। कठिन परिस्थिति का सामना सभी को मिलकर करना होगा।

बैठक में सीहोर कलेक्टर अजय गुप्ता एसपी शशीन्द्र चौहान सीईओ जिला पंचायत हर्ष सिंह , एसडीओ शैलेन्द्र हिनोतिया , नरेन्द्र सिंह चौहान, रवि मालवीय, राजेन्द्र सिंह राजपूत, राम नारायण साहू, प्रेमनारायण मीना, सुनीता हरिनारायण, महेश उपाध्याय, राजेश राजपूत, रामगोपाल टेलर, वीरसिंह चौहान, ललित शर्मा, भगवत सिंह ठाकुर, मनोहर लाल माहेश्वरी, प्रभु दयाल शर्मा आदि उपस्थित थे।

बैठक में निर्णय लिया है कि नवरात्रि के

दौरान और उसके बाद भी करीब एक सप्ताह तक बड़ी संख्या में भक्तों का मंदिर में आना-जाना लगा रहता है। ऐसे में मंदिर में भक्तों के प्रवेश पर रोक लगाने 16 अक्टूबर, नवरात्रि के एक दिन पूर्व से ही मंदिर के द्वार भक्तों के लिए बंद कर दिये जाएंगे। मंदिर को भक्तों के लिए 2 नवंबर तक बंद रखा जाएगा। कुल 18 दिन मंदिर भक्तों के लिए बंद रहेगा। हालांकि अभी भी अंतिम निर्णय मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से चर्चा के बाद के लिए छोड़ा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here