बाघ ने किया महिला का शिकार, गुस्साए ग्रामीणों ने तोड़फोड़ कर ईको सेंटर में लगाई आग

होशंगबाद।
मध्यप्रदेश के होशंगाबाद जिले में गुरुवार-शुक्रवार दरमियानी को बड़ा हादसा हो गया। यहां एक बाघ ने महिला को अपना शिकार बना लिया। जैसे ही ये खबर ग्रामीणों को लगी वे इको सेंटर पहुंचे और तोड़फोड़ शुरु कर दी। इतना ही नही ग्रामीणों ने वहां आग भी लगा दी ।सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और ग्रामीणों को समझाइश दी , तब जाकर मामला शांत हुआ ।घटना के बाद से ही गांव में दहशत का माहौल है।इससे पहले इस इलाके में बाघ ने मटकुली के पिसुआ गांव में 2 गायों का शिकार किया था।

दरअसल, घटना पिपरिया के आदिवासी अंचल मटकुली के मेहंदीखेड़ा गांव की है। यहां गुरुवार रात एक बाघ जंगल से भटक कर गांव में कुसमरिया बाई नाम की महिला पर हमला कर दिया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। जैसे ही ये खबर शुक्रवार सुबह ग्रामीणों को लगी उन्होंने मटकुली के इको सेंटर में न केवल तोड़फोड़ की हैं, बल्कि सेंटर के एक हिस्से में आग भी लगा दी हैं। इसके बाद ग्रामीणों ने पचमढी-छिंदवाड़ा-भोपाल मार्ग पर चक्काजाम कर सतपुड़ा टाइगर रिजर्व प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की हैं। चक्काजाम स्थल पर स्टेशन रोड टीआई सतीश अंधवान ने पहुंचकर ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया परंतु ग्रामीण किसी की बात सुनने को तैयार नहीं हुए।

ग्रामीणों की माने तो कई दिनों से गांव में बाघ के मूवमेंट मिल रहे है।घटना के बाद ग्रामीणों में जबरदस्त आक्रोश है। वहीं, वन विभाग की टीम बाघ के पद चिन्हों के अधार पर ये पता लगाने की कोशिश कर रही कि बाघ किस ओर गया है। मामले की जानकारी मिलने के बाद वन विभाग और पुलिस की टीम गांव में पहुंची है। फिलहाल पुलिस मर्ग कायम कर महिला का शप पीएम के लिए भेज आगे की कार्रवाई कर रही है।