कोरोना का कहर: इटारसी में व्यापारी स्वेच्छा से कर रहे अपनी दुकानें बंद

होशंगाबाद/ इटारसी, राहुल अग्रवाल। कोरोना का संक्रमण इटारसी में लगातार बढ़ता ही जा रहा है। होशंगाबाद जिले के इटारसी में ही सबसे ज्यादा कोरोना के मरीज है और मृत्यु का ग्राफ यहां ज्यादा है। संक्रमण की संख्या का इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि प्रशासन के पास अब कंटेन्मेंट जोन बनाने तक के साधन नहीं है। जो साधन थे, वो पुराने कंटेन्मेंट जोन में ही लगे हुए है और इतना बल भी प्रशासन के पास नही है कि हर एक जोन में कर्मचारियों की ड्यूटी लगा सके। जिस वजह से इटारसी अब भगवान के भरोसे है। कोरोना वायरस के फैलते संक्रमण को देखते हुए व्यपारियो की एक साथ आवाज उठ रही है कि शहर में अब लॉक डाउन लग जाना चाहिए।

आज सुबह इटारसी के वरिष्ठ समाजसेवी और गल्ला व्यवसायी संजय खंडेलवाल की कोरोना से मृत्यु हो जाने के बाद सुबह से ही सोशल मीडिया पर शहर में लॉकडाउन लगाने को लेकर पोस्ट वायरल हो रही है। वहीं इटारसी जैन समाज ने शनिवार से समाज की सभी दुकाने बन्द करने का निर्णय लिया है। ऐसे ही सभी समाज व व्यापारिक संगठनो के लोग निर्णय लेते जा रहे है। शहर में कोरोना के डर का माहौल इतना है कि लोग स्वेच्छा से अपनी अपनी दुकाने बन्द कर रहें।