Rajgarh : इस स्कूल में भरे पानी के बीच लगती है कक्षा, जल जमाव से डेंगू-मलेरिया का खतरा

राजगढ़, डेस्क रिपोर्ट। कोरोनाकाल का संकट कम होने पर 18 महीने बाद सोमवार से मध्यप्रदेश में स्कूल खुल गए है। लेकिन मध्यप्रदेश के राजगढ़ में लम्बे समय से बंद स्कूल खुलने के बाद अब स्कूल में आने वाले मासूम बच्चों पर कोरोना के साथ-साथ डेंगू का खतरा मंडरा रहा है, क्योकि बारिश के चलते राजगढ़ जिले के बामन गाँव का यह प्राथमिक स्कूल तलैया बन गया है। जिसकी वजह से इन मासूम छात्रों पर बीमारियों का खतरा बना है। यहां बिना साफ-सफाई के ही स्कूल खोल दिए गए हैं। जिसकी वजह से बीमारी के साथ बच्चों की जान को भी खतरा है।

Rajgarh : इस स्कूल में भरे पानी के बीच लगती है कक्षा, जल जमाव से डेंगू-मलेरिया का खतरा

ये भी पढ़ें- BJP नेता की गोली मारकर हत्या, बाइक सवार ने की ताबड़तोड़ फायरिंग, मौत

ये तस्वीर है मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले के बामन गाँव के सरकारी प्राथमिक विद्यालय स्कूल की। जहां इस स्कूल में कक्षा 1 से कक्षा 5 के 22 बच्चे इस विद्यालय में पड़ने आते है। कोरोना काल के लंबे इंतजार के बाद स्कूल खुलते ही बच्चे भी पढ़ने आ गए, लेकिन यह स्कूल बिना साफ सफाई के ही खोल दिया गया है। यहां हल्की बारिश के कारण इस स्कूल में जल जमाव होने से स्कूल का परिसर तलैया बन जाता है और बारिश का पानी कई दिनों तक स्कूल परिसर में जमा रहता है, जिससे गुजरकर बच्चे कक्षा के अंदर जाते है। स्कूल परिसर में जल जमाव के कारण स्कूल में पढ़ाई के लिए आने वाले मासूम बच्चों पर कोरोना के साथ साथ डेंगू व मलेरिया का खतरा बना है। इस स्कूल को खोलने से पहले किसी ने भी जल निकासी तक कि व्यवस्था नहीं की। बामन गाँव के इस सरकारी स्कूल में सबसे बड़ी समस्या जल निकासी को लेकर है।

Rajgarh : इस स्कूल में भरे पानी के बीच लगती है कक्षा, जल जमाव से डेंगू-मलेरिया का खतरा

ये भी पढ़ें- MP College: उच्च शिक्षा विभाग का बड़ा फैसला, डिग्री चाहिए तो छात्रों को करना होगा ये काम

वहीं राजगढ़ जिला अस्पताल में इन दिनों बड़ी संख्या में बच्चों बीमार हो कर पहुँच रहे हैं। राजगढ़ जिले में डेंगू भी तेजी से फैल रहा है। जिले में डेंगू के अब तक 30 से अधिक मरीज सामने आ चुके है। डाक्टर भी आस-पास जल जमाव को हटाने की बात कह रहे है क्योंकि डेंगू का लार्वा साफ पानी मे बनता है। ऐसे में इन बच्चों पर भी डेंगू का खतरा मंडरा रहा है। इस प्राथमिक विद्यालय के स्कूल परिसर में पानी भरा होने से बच्चों पर संकट आ सकता है।

स्कूल के प्रभारी प्राचार्य देवी लाल दांगी का कहना है कि स्कूल में पानी ऊपर जंगल की ओर से आता है। जिसकी निकासी की व्यवस्था सही नहीं है, जिसकी वजह से स्कूल व कक्षा में पानी आ जाता है। जिस दिन पानी ज्यादा भर जाता है उस दिन स्कूल की छुट्टी रखना पड़ता है। बच्चों को बैठाने की भी व्यवस्था नहीं हो पाती है। वही मामले पर स्कूल शिक्षिका रीना वर्मा का कहना है कि जल भराव के कारण अब पानी की निकासी की आवश्यकता है। कई बार हमने अधिकारियों को इसकी सूचना दी है। अब देखना होगा कब प्रशासन इस समस्या पर कार्रवाई करती है।