403 साल पुरानी अन्नकूट की परंपरा निभाएगा इंदौर शहर, 26 अक्टूबर से शुरू होगा महोत्सव

मध्यप्रदेश के इंदौर शहर (Indore) के पंचकुइया स्थित राम मंदिर आश्रम में करीब 403 सालों से अन्नकूट की परंपरा चलती आ रही है। इस परंपरा को बरकरार रखने के लिए इस साल भी इंदौर में अन्नकूट महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है।

indore

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश के इंदौर शहर (Indore) के पंचकुइया स्थित राम मंदिर आश्रम में करीब 403 सालों से अन्नकूट की परंपरा चलती आ रही है। इस परंपरा को बरकरार रखने के लिए इस साल भी इंदौर में अन्नकूट महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। यह अन्नकूट महोत्सव 26 अक्टूबर के दिन आयोजित किया जा रहा है।

इस आयोजन को अयोध्या की तर्ज पर साधु संतों के सानिध्य में मनाया जाएगा। खास बात यह है कि अन्नकूट महोत्सव में गोवर्धन पूजा सबसे पहले की जाएगी। उसके बाद गो प्रसादी भी होगी। वहीं शाम को भगवान टीकम जी के दर्शन किए जा सकेंगे। इस दौरान उनका रूप द्वारका धाम की तरह होगा। साथ ही मंदिर में दीपोत्सव की जो चलेगी।

Must Read : Guna : अनियंत्रित ट्रक ने युवक और गाय को भी रौंदा, दर्दनाक मौत

आपको बता दें, 25 अक्टूबर के दिन सूर्य ग्रहण है। ऐसे में 26 अक्टूबर का आयोजन किया जा रहा है। इसको लेकर एक बैठक का आयोजन किया गया था जिसमें यह निर्णय लिया गया है। ऐसे में 26 अक्टूबर के दिन सुबह 8 बजे महिलाओं द्वारा गोवर्धन पूजा के साथ इसकी शुरुआत होगी। इसको लेकर मंदिर के महाराज द्वारा बताया गया है कि 26 अक्टूबर को अन्नकूट की शुरुआत हो रही है। ऐसे में 500 से अधिक गोमाताओं का पूजन किया जाएगा। व

हीं शाम 7 बजे से मुख्य मोहत्सव का आयोजन होगा। ऐसे में 108 दीप भी जलाए जाएंगे। महाआरती भी आज की जाएगी। इस मोहत्सव में 56 तरह के पकवानों का भोग लगेगा। साथ ही 36 प्रकार की सब्जियों को मिश्रण कर सब्जी तैयार की जाएगी। ये परंपरा पिछले 402 साल से चलती आ रही है। 16वीं सदी से मंदिर के पूर्व पांच महंतों ने व अब वर्तमान महामण्डलेश्वर लक्ष्मणदास महाराज द्वारा दीप प्रज्वलित कर अन्नकूट महोत्सव का आयोजन किया जाता है।