बुजुर्गों के अपमान पर इंदौर कलेक्टर शर्मिंदा, माफी मांगने पहुंचे भगवान गणेश के दरबार

इंदौर कलेक्टर ने कहा कि इंदौर में नगर निगम के द्वारा जो भी बुजुर्गों के साथ में घटनाक्रम हुआ था उसके लिए भी ईश्वर क्षमा मांगी है। उसमें जो भी गलती हुई है जिससे भी हुई है, चूंकि हम लोग सभी अधिकारी हैं कहीं ना कहीं जिम्मेदारियों से बच नहीं सकते हैं। इन गलतियों के लिए ईश्वर क्षमा करें और पूरे शहर के स्वास्थ्य के लिए भगवान जी से कामना की है।

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के मिनी मुंबई कहे जाने वाले इंदौर (Indore) में बुजुर्गों (senior citizen) के साथ हुई बदसलूकी (Misbehavior) के मामले ने जैसे ही तूल पकड़ा प्रदेश और देश में हर जगह इंदौर शहर की चर्चा होने लगी। हर कोई इंदौर शहर में हुई इस घटना को कोस रहा है। घटना के तुरंत बाद ही सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने दोषियों (Accused) पर कार्रवाई (Action) करते हुए उन्हें बर्खास्त कर दिया। वहीं अब शासन प्रशासन दोनों ही इंदौर (Indore) में हुई घटना को लेकर प्रायश्चित (Regret) करने में लगी हुई है।

आज रविवार को माघ चतुर्थी के मौके पर इंदौर के कलेक्टर ने खजराना मंदिर (Khajrana Mandir) में हाजरी लगा कर भगवान गणेश से इंदौर में हुई घटना को लेकर माफी मांगी। पत्रकारों से चर्चा करते हुए कलेक्टर मनीष सिंह (Collector Manish Singh) ने कहा कि आज इस अवसर पर पूरे शहर के लिए और स्वास्थ्य के लिए आशीर्वाद लिया है। शहर में शांति बनी रहे, सभी को सही निर्णय लेने की क्षमता दें और फिर आशीर्वाद प्राप्त किया है। कलेक्टर ने आगे कहा कि इंदौर में नगर निगम के द्वारा जो भी बुजुर्गों के साथ में घटनाक्रम हुआ था उसके लिए भी ईश्वर क्षमा मांगी है। उसमें जो भी गलती हुई है जिससे भी हुई है, चूंकि हम लोग सभी अधिकारी हैं कहीं ना कहीं जिम्मेदारियों से बच नहीं सकते हैं। इन गलतियों के लिए ईश्वर क्षमा करें और पूरे शहर के स्वास्थ्य के लिए भगवान जी से कामना की है।

कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा कि आज माघ चतुर्दशी के अवसर पर इसमें धार्मिक ग्रंथों में मान्यता है कि भगवान श्री गणेश जी का जन्मदिन है। इस अवसर पर पूजा अर्चना हुआ और श्रृंगार किया गया। आज से 3 दिन का एक त्योहार शुरू होता है। आज तिल के लड्डू के भोग लगाए गए, कल अजवाइन के लड्डू के भोग लगेंगे और परसों चरुला के लड्डू के भोग लगेंगे।

 

बता दें कि इंदौर शहर चार बार स्वच्छता रैंकिंग में नंबर वन पर रहा हैं, लेकिन शुक्रवार को एक शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई थी। जिसमें नगर निगम के कर्मचारी बुजुर्ग भिखारियों को डंपर में मवेशियों की तरह ठूंस कर शहर के बाहर छोड़ आए। जिसे लेकर सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें साफ देखा जा रहा था कि नगर निगम के कर्मचारी बुजुर्गों को जानवरों की तरह डंपर में भरकर दूसरी जगह ले जा रहे थे। इस घटना का वीडियो जैसे ही पूरे और देश के सामने आया वैसे ही इंदौर नगर निगम के अपर आयुक्त अभय राजनगावकार ने निगम के दो कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया है। वहीं इस घटनाक्रम के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी एक्शन लेते हुए इंदौर नगर निगम के अपर आयुक्त अभय राजनगावकार को भी हटा दिया था।