Indore : इंदौर में हुक्का पार्टी का खुलासा, 200 रुपए प्रतिघंटा से मजे ले रहे थे युवा, 5 गिरफ्तार

इंदौर (Indore) में हाल ही में एक हुक्का पार्टी का खुलासा हुआ है। बताया जा रहा है कि लसूड़िया पुलिस ने स्कीम नंबर 114 में चल रही हो हुक्का पार्टी पर छापा मारा है।

indore

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। इंदौर (Indore) में हाल ही में एक हुक्का पार्टी का खुलासा हुआ है। बताया जा रहा है कि लसूड़िया पुलिस ने स्कीम नंबर 114 में चल रही हो हुक्का पार्टी पर छापा मारा है। इतना ही नहीं पुलिस ने यहां से 5 युवकों को भी गिरफ्तार किया है।

आपको बता दें, जहां हुक्के की पार्टी चल रही थी वहां 200 रुपए प्रति घंटे के हिसाब से हुक्का पीने के लिए मिलता था। ऐसे में जब पुलिस ने यहां छापेमारी की तब करीब पांच युवक यहां पर बैठकर हुक्का पार्टी कर रहे थे। इन सभी के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है।

जानकारी के मुताबिक, लसूड़िया थाना प्रभारी संतोष दूधी ने बताया है कि हुक्का पार्टी में की गई छापे मारी में जिन्हे गिरफ्तार किया गया है उनके नाम कुछ इस तरह है – अतिक खान (जूना रिसाला), रोहित किशनी (श्री यंत्रनगर), सुमित परियानी (स्कीम-103), राजेंद्र अहिरवार (स्कीम-114) और आशू इकबाल निवासी जूना पीठा इंदौर।

ये भी पढ़े – मुश्किलों में Jacqueline Fernandez, सुकेश चंद्रशेखर मामले में ED ने बनाया आरोपी

इन सभी लोगों को इंदौर के स्किम नंबर 114 से गिरफ्तार किया गया है। टीआई ने बताया कि ये सभी लोग एक बिल्डिंग की छत पर हुक्का पार्टी कर रहे थे। दरअसल, हुक्का पार्टी के लिए एक बिल्डिंग में अतिक खान ने फ्लोर किराय पर लिया है। यहां वो 200 रुपए प्रतिघंटे के हिसाब से हुक्के की पार्टी चलता था। ऐसे में लोग यहां आकर 200 रुपए प्रति घंटे के हिसाब से आकर हुक्का पीते थे।

जैसा कि सभी को पता है इंदौर में हुक्का और ई-सिगरेट पर बेन लगा हुआ है उसके बाद भी ये शहर में धड़ल्ले से बिक रही है। इसका खास अड्डा इंदौर का विजय नगर है। यहां पब, कॉफी हाउस, रेस्त्रांओं में सबसे ज्यादा मिल रही है। इतना ही नहीं इनके बाहर भी इसकी बिक्री काफी ज्यादा हो रही है।

अभी हाल ही में विजय नगर पुलिस ने इंदौर कि एक पान दुकान संचालक संगम जैन को ई-सिरगेट पकड़ा था। जिसके बाद उसे गिरफ्तार भी कर लिया गया था। जब पूछताछ कि गई तो उसने बताया कि वह प्रतिबंधित ई-सिगरेट दुबई, चीन, कोरिया से आनलाइन बुलवाता था। इतना ही नहीं वह इन को करीब डबल रेट में बेचता था और लोग उससे ये खरीदते भी थे। ये नाबालिग भी खरीद रहे थे।