इंदौर| आकाश धोलपुरे| मध्यप्रदेश के मिनी मुंबई याने की इंदौर में कोरोना संकट अब एक बड़ी मुश्किल का सबब बनता जा रहा है। प्रशासन अपना काम मुस्तैदी से कर रहा है लेकिन बावजूद इसके हालात बिगड़ रहे है। इंदौर में जहाँ बुधवार को 6 लोगो की मौत की पुष्टि की गई थी वही गुरूवार को फिर 2 लोगो की मौत कोरोना की वजह से हो गई है। इंदौर में देश का पहला ऐसा मामला सामने आया है जब एक प्रायवेट प्रैक्टिस करने वाले डॉक्टर की मौत कोरोना की वजह से हुई है।

डॉक्टर ने आज सुबह तकरीबन 3 बजकर 45 मिनिट पर दम तोड़ दिया। मेडिकल रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि 62 वर्षीय डॉक्टर 8 अप्रैल को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे और आज इंदौर के अरविंदो अस्पताल में उनकी मौत हो गई। इसके पहले रूपराम नगर निवासी डॉक्टर का इलाज शहर के सीएचएल अस्पताल में चल रहा था लेकिन पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद डॉक्टर को अरविंदो अस्पताल में भर्ती किया गया जहां उनकी मौत हो गई।

इधर, इंदौर में आज कोरोना से दूसरी मौत का मामला भी सामने आया है। बता दे कि साउथ तोड़ा निवासी 44 वर्षीय युवक की जान कोरोना पीड़ित होने के चलते चली गई। युवक की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट 7 अप्रैल को आई थी जिसके बाद से ही उसका इलाज अरविंदो अस्पताल में चल रहा था आखिरकार आज सुबह 6 बजकर 40 मिनिट पर युवक की मौत हो गई। फिलहाल, इंदौर में कोरोना का कहर जारी है और अब तक कोरोना पॉजिटिव मरीजो का आधिकारिक आंकड़ा 213 तक पहुंच गया है वही मरने वालों की संख्या भी 23 तक जा पहुंची है जो पॉजिटिव मरीजो को तुलना में 10 फीसदी के लगभग है। कोरोना के बढ़ते मामलो के चलते इंदौर में प्रशासन अब ज्यादा सख्त हो गया है और सभी से अपील भी की जा रही है कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करे और घरों में ही रहे।