Indore News: स्वतंत्रता दिवस पर 24 कैदी जेल से रिहा, जानें क्या बोले गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा

मिश्रा ने कहा कि आज प्रदेश भर में आजीवन कारावास की सजा काट रहे कैदियों (central jail) को रिहा किया जा रहा है और मुझे उम्मीद है कि आज इंदौर केंद्रीय जेल से रिहा हो रहे कैदी अपने संस्कार और संस्कृति की नई प्रेरणा बन समाज में मिसाल पेश करेंगे।

indore

इंदौर, आकाश धोलपुरे। देशभर में आज आजादी की 75 वीं (75th Independence Day) सालगिरह धूमधाम से मनाया जा रही है और आजादी का ये खास दिन मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की जेलों में सालों से बंद कैदियों के लिए भी खुशहाली भरा रहा। इंदौर (Indore) में प्रदेश के गृह व जेल मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने 24 कैदियों के चेहरों पर आज मुस्कान ला दी, जिन्होंने अपने अच्छे आचरण से एक सभ्य समाज की बेहतरीन मिसाल जेल की चार दिवारी के अंदर पेश की है।

यह भी पढ़े.. MP Politics: ज्योतिरादित्य सिंधिया को हराने वाले BJP सांसद केपी यादव को नई जिम्मेदारी

इंदौर में गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Narottam Mishra) ने केंद्रीय जेल में आयोजित आजीवन कारावास के बंदियों के रिहाई समारोह में शामिल हुए और यहां उन्होंने सजा काट रहे 24 कैदियों को रिहाई प्रमाण पत्र सौंपा और कहा कि रिहा हुए कैदी भावी पीढ़ी को अच्छे आचरण और संस्कार से दे ताकि उन्हें प्रेरणा मिल सके। उन्होने कहा कि “एक क्षण की गलती, लंबे समय तक पश्चाताप बनकर रहती है लेकिन इससे आने वाले जीवन के लिए उम्मीदों की कल्पना नहीं छोड़नी चाहिए। अच्छे आचरण, अभ्यास और संस्कार के द्वारा हमें आने वाली पीढ़ी के लिए प्रेरणा बन समाज में एक नया उदाहरण बनाने का संकल्प लेना चाहिए।

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि आज प्रदेश भर में आजीवन कारावास की सजा काट रहे कैदियों (central jail) को रिहा किया जा रहा है और मुझे उम्मीद है कि आज इंदौर केंद्रीय जेल से रिहा हो रहे कैदी अपने संस्कार और संस्कृति की नई प्रेरणा बन समाज में मिसाल पेश करेंगे। इस मौके पर इंदौर में आजीवन कारावास की सजा काट रहे 24 कैदियों को रिहाई प्रमाण पत्र भी गृहमंत्री ने प्रदान किया। डॉ. मिश्रा ने जेल में रह रहे कैदियों को अच्छा आचरण और स्वभाव अपनाने की सलाह दी और कहा कि अभ्यास के माध्यम से जेल में रह रहे कैदियों के लिए भी आगे आने वाले दिनों में सुनहरा कल जरूर आएगा।

यह भी पढ़े.. हाईकोर्ट की अहम टिप्पणी- ‘मनोरंजन के लिए शारीरिक संबंध नहीं बनाती भारतीय लड़कियां’

गृहमंत्री ने कहा कि केंद्रीय जेल से 24 कैदियों को रिहा किया गया है, जिसमें दो महिलाएं भी शामिल हैं। ये कैदी आजीवन कारावास की सजा काट रहे थे। कैदियों की रिहाई के वक्त गृहमंत्री ने यह समझाइश भी दी कि उन्होंने जो एक गलती कर अपने जीवन के कई साल यहां गुजारे हैं वैसी गलती दोबारा ना करें और अपने परिवार के साथ अच्छे से रहें। वही गृहमंत्री ने ये भी कहा कि वर्तमान में प्रदेश में कई जेलों का रिनोवेशन और निर्माण का कार्य जारी है इसके अलावा जेल में बंद कैदियों के घर से आने वाली खाद्य सामग्री को लेकर भी जल्द निर्णय लेने की बात गृहमंत्री ने इंदौर में कही है।इधर, रिहाई के वक्त जेल से रिहा हो रहे कैदियों के चेहरों पर रिहाई के उत्साह की चमक भी देखी गई और सभी आज के दिन को जीवन का अहम दिन बता रहे थे।