ढाबे पर हत्या करने वाले 3 आरोपी गिरफ्त में, सीसीटीवी में हुए कैद

इंदौर, आकाश धोलपुरे

शहर में 4 और 5 अगस्त की दरमियानी रात के समय इंदौर के लसूड़िया थाना क्षेत्र के एक ढाबे पर एक कर्मचारी से मामूली बात के विवाद को लेकर करीब चार लोगों ने इतनी जमकर पिटाई की थी कि ढाबा कर्मचारी की मौके पर ही मौत हो गई थी। इसके बाद पुलिस हत्या के आरोपियों की तलाश में जुट गई थी और आज पुलिस ने हत्या के 3 आरोपियों को गिरफ्त में ले लिया है। जबकि हरियाणा निवासी एक आरोपी की तलाश पुलिस कर रही है। बता दे कि दो दिन पहले मामूली विवाद में ढाबे पर काम करने वाले कर्मचारी को करीब 4 लोगों ने पीट पीट कर मार डाला था। वही आज लसूड़िया पुलिस ने चार आरोपियों में से तीन आरोपियों को पकड़ने में सफलता हासिल की है।

पुलिस के मुताबिक इंदौर बायपास रोड़ पर देर रात मांगलिया डिपो के चार कर्मचारी खाना खाने गए थे। रात 12 बजे के बाद ढाबे पर मौजूद कर्मचारी ने पहले तो उन्हें खाना न होने के चलते मना कर दिया। इसके बाद जब खाना बनाकर दिया गया तो बिल के 600 रुपये चुकाने की बात आई तब खाना खा रहे कर्मचारियों ने ढाबे पर काम करने वाले कर्मचारी रविन्द्र को 200 रुपए दिए और कहा कि उन्हें खाना पसंद नही आया इसलिए वो पूरा बिल नही चुकाएंगे।

इसके बाद हुई बहस में चारो कर्मचारी एक साथ रविंद्र पर टूट पड़े और किसी ने डंडे से तो किसी सीमेंट के गमले से उस पर हमला बोल दिया और उसे पीट-पीट कर मार डाला। खाना न देने और बिल की बात पर गुस्साए युवकों ने रविन्द्र पर हमला कर उसे घायल कर दिया जिसके बाद रविन्द्र को उसके साथी निजी अस्पताल लेकर पहुंचे लेकिन डॉक्टरों ने रविन्द्र को मृत घोषित कर दिया था।

मृतक रविंद्र उर्फ गोलू मूलतः भिंड का रहने वाला था। पुलिस द्वारा जारी जांच मे पता चला है कि ढाबे पर लगे सीसीटीवी में हत्या की पूरी घटना कैद हो गई है। पुलिस ने सीसीटीवी के आधार पर जांच शुरु कर दी थी। आज मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और हालांकि हरियाणा का रहने वाला एक आरोपी अभी तक पुलिस की गिरफ़्त से बाहर है जिसकी तलाश पुलिस द्वारा की जा रही है। थाना लसूड़िया के उपनिरीक्षक असरफ अली अंसारी ने बताया कि हत्या की वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई है और फरार चौथे आरोपी की तलाश पुलिस सरगर्मी से कर रही है।