इंदौर पुलिस ने पकड़े तीन बांग्लादेशी अपहरणकर्ता

इंदौर। इंदौर की हीरानगर पुलिस द्वारा 8 फरवरी को पकड़े  चार आरोपियों में से तीन बांग्लादेश के रहने वाले निकले हैं। दरअसल  5 फरवरी 2020 को 6  बजे फिरौती के लिए मनोहर पाल के पुत्र अनिल पाल का, जो गौरी नगर में रहता था, अपहरण कर लिया गया था और दो लाख रू की फिरौती मांगी गई थी। इस प्रकरण में पुलिस के द्वारा आरोपी किशोर, मेघा पति किशोर  रोनी शेख पिता रोहित शेख ,ओलिवर पुत्री हैदर को गिरफ्तार किया गया था। आरोपी से पूछताछ में खुलासा हुआ कि आरोपी  बिना पासपोर्ट के भारत में प्रवेश किए रह रही हैं।और इन दोनों को देह व्यापार के लिए किशोर खंडारे के पास लाया गया था। एक अन्य आरोपी मेघा खंडारे भी बांग्लादेश की नागरिक है जो बिना किसी वैध पासपोर्ट के मुंबई आए और  देह व्यापार का काम करती रही। इन आरोपियों के पास से बांग्लादेशी पासपोर्ट भी जप्त हुए हैं। साथी ही साथ इनके पास भारत के पासपोर्ट भी है। इन लोगों ने मरीमाता चौराहेके पास रहने वाले कंप्यूटर की दुकान चलाने वाले शिव कुमार यादव के माध्यम से फर्जी मार्कशीट तैयार करें करायी। पूरे मामले में आरोपी अशोक अग्रवाल से हुई पूछताछ से भी खुलासा हुआ है कि इसने सौ से भी ज्यादा नकली अंकसूची पांचवी और आठवीं क्लास की बनाई ।इसी के साथ किशोर खंडारे नक़ली नोट भी छाप ता है। पुलिस ने इस प्रकरण में धोखाधड़ी करने कूट रचना करने नकली नोट चलाने और पासपोर्ट अधिनियम के उल्लंघन सहित विभिन्न धाराओं में प्रकरण दर्ज किए हैं। इस कार्रवाई में एसएसपी रुचि वर्धन के मार्गदर्शन में थाना हीरा नगर के उप निरीक्षक जगदीश मालवीय की सराहनीय भूमिका रही।