बजट से महू-खंडवा-अकोला लाइन के लिए मिले 369 करोड़

इंदौर।

केंद्रीय बजट में महू-खंडवा-अकोला बड़ी लाइन परियोजना को लिए 369 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं। मनमाड़ लाइन प्रोजेक्ट करीब 10 हजार करोड़ रुपए का है, जबकि इंदौर-जबलपुर के बीच नई लाइन बिछाने में 4320 करोड़ के खर्च का अनुमान है। दोनों ही परियोजनाएं मोदी सरकार ने मंजूर की थीं, लेकिन अब तक उनका काम शुरू नहीं हो पाया। इंदौर-दाहोद परियोजना को 120 करोड़ जबकि छोटा उदयपुर-धार के बीच नई रेल लाइन योजना के लिए 100 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं। पहले से स्वीकृत इंदौर-देवास-उज्जैन लाइन के दोहरीकरण कार्य के लिए रेलवे ने सिर्फ 65 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं। लोकसभा में बजट पेश होने के बाद रेल मंत्रालय ने परियोजनाओं के लिए बजट आवंटन की जानकारी वाली पिंक बुक जारी की। बजट में रतलाम-फतेहाबाद रेल लाइन के विद्युतीकरण के लिए 2.66 करोड़ रुपए की राशि रखी गई है। यह परियोजना पूरी हो चुकी है लेकिन अब इससे संबद्ध फतेहाबाद-उज्जैन लाइन का विद्युतीकरण होना बाकी है। इसी तरह महू-खंडवा लाइन के विद्युतीकरण के लिए 50 करोड़ रुपए दिए गए हैं। यह परियोजना 127.82 करोड़ रुपए की है। इस प्रोजेक्ट में फिलहाल खंडवा-सनावद के बीच ही विद्युतीकृत बड़ी लाइन बिछाने का काम पूरा नहीं हुआ।