इंदौर| आकाश धोलपुरे| महामंडलेश्वर कंप्यूटर बाबा ने मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि जल्दी ही प्रदेश में धर्मस्थल खोले नहीं जाते हैं तो इसका परिणाम मध्य प्रदेश सरकार को भुगतना होगा। दरअसल, कोरोना वायरस के कहर के चलते जहां शहर में लाकडाउन और अनलॉक फेज के 3 महीने से ज्यादा हो चुके है और सभी धर्मस्थल बंद है। हालांकि, अनलॉक होने के बाद शहर में अधिकतर गतिविधियां चालू हो चुकी है लेकिन अब तक प्रशासन द्वारा इंदौर में धार्मिक स्थल नहीं खोले गए हैं जिसका लेकर संत समाज में भी काफी रोष है और अब ये रोष आक्रोश के रुप में सामने आ रहा है।

इंदौर में षट्दर्शन समिति के अध्यक्ष कंप्यूटर बाबा ने चेतावनी देते हुए कहा कि इंदौर के सभी धर्मस्थल जल्दी नहीं खोले गए तो प्रदेश सरकार को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। उन्होंने ये भी कहा कि समूचे साधु और संत समाज द्वारा हजारों की तादाद में प्रदेश स्तर पर धरना प्रदर्शन किया जाएगा। महामंडलेश्वर कंप्यूटर बाबा द्वारा ने इंदौर में कहा कि जिस प्रकार प्रदेश में मदिरा की दुकाने खोली गई है और धर्म स्थल को बंद रखा गया है वो उचित नही है। जिसके विरोध में महामंडलेश्वर कंप्यूटर बाबा के नेतृत्व में मदिरा की दुकान के बाहर हजारों की तादाद में साधु संतों द्वारा सरकार के खिलाफ हवन पूजन किया जाएगा। कंप्यूटर बाबा ने ये भी साफ किया कि अगर जरूरत पड़ी तो मदिरा की दुकाने भी बंद कराने में भी संत समाज भी पीछे नही हटेगा। 8 दिन के अंदर धर्मस्थल नही खोले जाने पर कंप्यूटर बाबा ने सरकार को साफ कर दिया कि सरकार का ये ही रवैया रहा तो उसके परिणाम ठीक नही होंगे। कंप्यूटर बाबा ने ये भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा में ताजा बयानों पर भी सवाल उठाए और अवैध खनन के मामले को लेकर भी विरोध करने की चेतावनी प्रदेश सरकार को दी है।