इंदौर से सुखद खबर: 98 मरीज हुए डिस्चार्ज, CMHO ने अफवाहों का किया खंडन

इंदौर| आकाश धोलपुरे| मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के इंदौर (Indore) में कोरोना (Corona) से जंग जारी है और ये ही वजह है कि शहर में भले ही हर रोज कोरोना संक्रमितो की संख्या में बढ़ोतरी हो रही हो लेकिन दूसरी और जाबांज डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ (Medical Staff) की मदद से ठीक होकर कोरोना से जंग जीतने वालो की संख्या भी तेजी से आगे बढ़ रही है। इंदौर में CMHO मेडिकल बुलेटिन के मुताबिक रविवार को 12 मरीज पूरी तरह से स्वस्थ होकर घर लौटे है वही जनसम्पर्क विभाग द्वारा सोमवार को डिस्चार्ज किये लोगो के आंकड़े भी जारी किए गए। जनसम्पर्क विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक इंदौर में सोमवार को 98 लोग कोरोना से जंग जीतकर घर लौटे है। इंदौर में सोमवार को इंडेक्स मेडिकल हॉस्पिटल से 51 तो अरविंदो अस्पताल से 47 लोग कोरोना को हराकर घर लौटे चुके है। इसके बाद इंदौर में अब तक ठीक होकर घर पहुंचने वालों की कुल संख्या 460 तक पहुंच चुकी है याने कुल पॉजिटिव 1611 पॉजिटिव मरीजों में करीब 29 फीसदी मरीज अब तक ठीक हो चुके है। फिलहाल, इंदौर में अब तक कोरोना से मरने वालों की संख्या 77 बताई जा रही है वही पूरी तरह से स्वस्थ होने वाले मरीजों की कुल संख्या 460 हो गई है।

* सोशल मीडिया पर निजी क्लीनिक खुलने की बात अफवाह मात्र*

कोरोना काल मे भ्रामक खबरे फैलाने वालो की कमी नही है जिसके चलते लॉक डाउन के तीसरे फेज में निजी क्लिनिक शुरू किए जाने के संदेश भी इंदौर में वायरल हो गए। आखिरकार इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जाड़िया को झूठी अफवाह का खंडन भी करना पड़ा। CMHO इंदौर ने बताया कि सोशल मीडिया में लॉक डाउन 3 के शुरू होने पर शहर मे निजी क्लिनिक खोले जाने की अफवाह पर ध्यान न दिया जाए और उन्होने कहा कि मैं ऐसी खबरों का खंडन करता हूँ। उन्होंने साफ किया कि वर्तमान में इंदौर में किसी निजी क्लिनिक को खोले जाने की अनुमति नही है और इस संबंध में प्रशासन कोई निर्णय लेगा तो आगे समाचार पत्रों और सोशल मीडिया के माध्यम से जानकारी दी जाएगी। फिलहाल, शहर में जगह – जगह डॉक्टरो द्वारा संचालित किए जाने वाले निजी क्लिनिक बंद रहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here