श्रमिक स्पेशल ट्रैन से इंदौर से रीवा पहुंचेंगे 1500 मजदूर

इंदौर| आकाश धोलपुरे| बुधवार की रात उन श्रमिको को लिए स्पेशल रहेगी जो बीते डेढ़ माह से भी अधिक समय से इंदौर में लॉक डाउन के बीच फंसे हुए थे। कोरोना (Corona) के कहर के बीच प्रदेश के अलग – अलग जिलों में रहने वाले श्रमिको को उनके मुकाम तक पहुंचाने के लिए रेल्वे की श्रमिक स्पेशल गाड़ी (Special Train) तैयार हो गई है। जो आज रात 9 बजे इंदौर से निकलेगी और सुबह 7 बजे तक रीवा पहुँच जाएगी। इन्दौर से रीवा के लिए चलाई जा रही श्रमिक स्पेशल गाड़ी रात 9 बजे प्लेटफॉर्म -1 से रवाना होगी।

इस ट्रेन में प्रदेश सरकार द्वारा पूर्व से ही पंजीकृत श्रमिकों (Registered workers) को जिला प्रशासन द्वारा बनाई लिस्ट के अनुसार भेजा जाएगा याने इस ट्रेन में केवल पंजीकृत श्रमिक ही सफर कर सकेंगे वही सामान्य यात्रियों के लिए ये ट्रैन नही है। केवल पंजीकृत श्रमिको को रीवा पहुँचाने वाली ट्रेन में रेल्वे प्रशासन द्वारा भोजन सहित कोरोना से लड़ी जा रही जंग के लिहाज से हर तैयारी पूरी कर ली गई है। LHB का 22 कोच का रेक जब ईंजन के साथ चलेगा तो हर बढ़ती घड़ी के साथ श्रमिको को उनके गंतव्य तक पहुंचने का अहसास कराएगा। बता दे कि पंजीकृत 1500 श्रमिक आज इंदौर से रीवा रुट के लिए रात 9 बजे रवाना होंगे और गुरुवार की सुबह सूरज की पहली किरण के उगने के साथ श्रमिक अपने घर की ओर रुख करेंगे। स्पेशल ट्रेन के चलने के पहले रेल्वे ने स्टेशन के चप्पे चप्पे को सेनेटाइज किया है वही आरपीएफ और जीआरपी के जवान प्लेटफॉर्म नम्बर 1 पर तैनात कर दिए गए है।

ए. आर.ओ. वीरेंद्र मकवाना के निर्देशन में रेल्वे ने पूरी तैयारी कर ली है और हर श्रमिक को उनके कोच तक सहूलियत से पहुंचाने के लिए विशेष व्यवस्था की गई है। दो द्वारों से श्रमिको को प्रवेश कराया गया और समूचे प्रबंधों के साथ उन्हें बिठाने का काम किया जा रहा है। 1500 श्रमिको को ले जाने वाली ट्रेन की रवानगी के पहले सतर्कता के चलते रेल्वे परिसर में मीडिया के प्रवेश पर प्रतिबंध रहेगा जिसकी जानकारी से संदर्भित एक पत्र भी मंडल रेल प्रबंधक विनीत गुप्ता ने इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह को भेजा है। आपको। बता दे कि श्रमिक स्पेशल ट्रेन आम लोगो के लिये नही है बल्कि पंजीकृत श्रमिको के लिये है ऐसे में आम लोग से अपील है कि वो लॉक डाउन का उल्लंघन न करे और अपने घरों में ही रहे।