Indore News : माँ और मासूम बेटे की एसी स्लीपर बस में संदिग्ध परिस्थिति में मौत, मामले की जांच में जुटी पुलिस।

यात्री बस में सफर करने की दर्दनाक दास्तां

इंदौर, आकाश धौलपुरे। इंदौर (Indore) में यात्री बस में सफर करने की दर्दनाक दास्तां सामने आई है। बता दे पुणे से अशोक ट्रेवल्स की एसी स्लीपर बस में सवार होकर शिक्षिका और उनकी माँ के साथ ही बहन 11 वर्षीय बेटा इंदौर आ रहे थे। मूलतः उज्जैन में रहने वाली शिक्षिका और उसके बेटे की बस से उतरने के बाद इलाज के दौरान मौत हो गई। संदिग्ध परिस्थितियों की वजह से हुई मौत के पीछे की वजह जो सामने आ रही है वो वजह हैरान कर देने वाली है। मिली जानकारी के मुताबिक उज्जैन से छुट्टी मनाने के लिए पुणे गए माँ और बेटे की मौत का कारण स्लीपर बस में दम घुटना माना जा रहा है। बस में रखे फायर यंत्र की गैस रिसाव को बड़ी वजह माना जा रहा है।

यह भी पढ़े…इन कर्मचारियों को बड़ा तोहफा, 15 मई से मिलेगी ये खास सुविधा, खाते में बढ़कर भी आएगी सैलरी

दरअसल, उज्जैन के वैद्य कालोनी नानाखेड़ा में रहने वाली 38 वर्षीय शिक्षिका दीपिका पति संदीप पटेल और उनके 11 वर्षीय बेटे आदित्यराज और शिक्षिका की माँ पुणे से उज्जैन लौट रहे थे। इसके लिए बकायदा अशोक ट्रेवल्स एसी स्लीपर बस की ऑनलाइन बुकिंग करवाई गई थी। जानकारी के मुताबिक रास्ते मे शिक्षिका और उनके मासूम बेटे का ऑक्सीजन लेवल कम हो रहा था दरअसल, ये आशंका इस बात से जताई जा रही क्योंकि बस का अग्निशमन यंत्र से संभवतः गैस लीक हो रही थी जिसके चलते दोनों को घुटन होने लगी। यात्रा के दौरान शिक्षिका और उनके बेटे को उल्टी की शिकायत होने लगी। इस दौरान बस के ड्रायवर और कंडक्टर से बात भी की गई लेकिन कोई भी माकूल जबाव उन्हें नही मिला। इधर, सुबह जब बस पालदा के तीन इमली चौराहे पर बस पहुंची तो शिक्षिका उनके बेटे एयर उनकी माँ पुष्पा वर्मा को उतार दिया गया। जहां से वे एक निजी क्लिनिक पहुंचे तब क्लिनिक से उन्हें कहा गया कि वो किसी बड़े अस्पताल जाए। इसके बाद जब दोनों को सुयश हॉस्पिटल भर्ती कराया गया तो सोमवार दोपहर 2 बजे तक माँ और बेटे ने दम तोड़ दिया।

यह भी पढ़े…IRCTC : अपना मोबाइल उठाइये और इन सुविधाओं का फायदा लीजिए

इधर, इस मामले की जांच संयोगितागंज पुलिस कर रही है वही शिक्षिका और उनके बेटे के शव को पोस्टमार्टम के लिए एम.वाय.अस्पताल भेज दिया गया है। हालांकि, इस पूरे मामले में संयोगितागंज पुलिस के जांच अधिकारी दिलीप सिंह ने साफ किया कि शिक्षिका और उनके बेटे की मौत किन संदिग्ध परिस्थितियों में हुई है इसकी जांच की जा रही है वही पीएम रिपोर्ट के आने के बाद मौत की वजह का पता चल पाएगा। वही बस ड्रायवर और कंडक्टर बुधवार को पुणे से इंदौर लौटेंगे उसके बाद उनसे भी मामले में पूछताछ की जाएगी। फिलहाल, मासूम और उसकी माँ की मौत के बाद पूरा परिवार सदमे में है और बस यात्रा के दौरान आई कमी को ही वो दोषी मान रहे है साथ ही ड्राइवर और कंडक्टर की लापरवाही पर भी सवाल उठाए जा रहे है। फिलहाल, मौत की असल वजह का पता लगाने में पुलिस जुट चुकी है।