बाधक निर्माण हटने के बाद 180 दिनों निगम करेगा शहर के मध्य सड़क का निर्माण, निगमायुक्त ने किया निरीक्षण

बाधक निर्माणों को हटाने के लिए निगम ने घरों और दुकानों के बाहर निशान लगाकर रहवासियों को अपने निर्माण खुद हटाने का समय भी दिया है।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर (Indore) के यातायात (traffic) को सुधारने के लिए शहर के लोग अपने आशियानों का बलिदान दे रहे है। बुधवार को रहवासियों के बीच निगमायुक्त (municipal commissioner) प्रतिभा पाल दौरा करने पहुंची। दरअसल, इंदौर शहर के ट्रैफिक को सुधारने के लिए स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत नगर निगम, बड़ा गणपति से लेकर कृष्णपुरा छत्री तक सड़क का निर्माण करने जा रहा है। जिसमें बाधक निर्माणों को हटाने के लिए निगम ने घरों और दुकानों के बाहर निशान लगाकर रहवासियों को अपने निर्माण खुद हटाने का समय भी दिया है।

यह भी पढ़ें…IPS Transfer: मप्र में फिर हुए आईपीएस अधिकारियों के तबादले, यहां देखें लिस्ट

बुधवार को निगमायुक्त प्रतिभा पाल निगम अमले और स्मार्ट सिटी के सीईओ ऋषभ गुप्ता के साथ बड़ा गणपति से गोराकुण्ड के बीच दौरा करने पहुंची। जहां उन्होंने रहवासियों द्वारा निजी खर्च से हटाए जा रहे निर्माणों को देखा और रहवासियों से बातचीत भी की। निगमायुक्त पाल ने दुकानों से सेंटर लाइन और ड्रेनेज सीवरेज और अंडर ग्राउंड लाइटिंग प्रोजेक्ट को भी समझा। सड़क निर्माण पर चर्चा करते हुए निगमायुक्त प्रतिभा पाल ने कहा कि सभी रहवासियों ने अपने हिस्से के बाधक निर्माण हटाना शुरू कर दिए है निगम ने इस रोड को बनाने के लिए 180 दिन का लक्ष्य रखा है जिसके तहत सभी कार्य पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।