दिल्ली से आई रिपोर्ट के बाद इंदौर को अब बुधवार को आने वाली कोविड -19 रिपोर्ट का इंतजार

213

इंदौर। आकाश धौलपुरे

इंदौर में दिल्ली से आई रिपोर्ट के बाद एक बार फिर शहर पर कोरोना का दबाव बढ़ता नजर आ रहा है। दरअसल, इंदौर से रविवार को 1142 सैम्पल जांच के लिए दिल्ली भेजे गए थे जिसके बाद मंगलवार रात को 465 सैम्पल की जांच रिपोर्ट आ चुकी है। जिनमे से इंदौर के 200 सैम्पल जांचे गए है और इन 200 में से 117 लोग दिल्ली से आई रिपोर्ट के बाद पॉजिटिव पाए गए है। जिसके बाद शहर में कोरोना पॉजिटिव मरीजो की संख्या 544 तक जा पहुंची है वही अब तक कोरोना के कारण 37 लोगो को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा है। दरअसल, मंगलवार रात को आई रिपोर्ट के मुताबिक 2 और लोगो की मौत कोरोना संक्रमण के चलते हो गई है।

जानकारी के मुताबिक अरविंदो अस्पताल में एडमिट सावंरिया नगर निवासी 49 वर्षीय पुरुष और सिद्धिपुरम कालोनी में रहने वाले 53 वर्षीय व्यक्ति ने कल दम तोड़ दिया था। जिसके बाद मरने वालों का आंकड़ा 37 तक जा पहुंचा है। इंदौर में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जाड़िया ने दिल्ली से आई रिपोर्ट की पुष्टि कर बताया कि 117 लोगो की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है और इंदौर में अब तक 544 लोग कोरोना पॉजिटिव हो चुके है। अब तक इंदौर में कोरोना जंग लड़ रहे 39 कोरोना योद्धाओं ने कोरोना से जंग जीती है याने 39 लोग स्वस्थ होकर घर लौट चुके है।

इधर CMHO जाड़िया ने बताया कि क्वारन्टीन किये गए 200 से ज्यादा लोग भी क्वांरन्टीन सेंटर से पूर्णतः स्वस्थ पाए जाने पर घर भेज दिए गए है। बताया ये भी जा रहा की दिल्ली से आई रिपोर्ट में जो लोग पॉजिटिव पाए गए है उनको प्रशासन ने पहले से ही क्वांरन्टीन हाउस में रखा हुआ है और ये वो मरीज है जो पूर्व के मरीजो के प्रायमरी कॉन्टेक्ट में शामिल है । इंदौर CMHO डॉ. जड़िया के मुताबिक अब तक सोसायटी में वायरस का फैलाव नही हुआ है। ऐसे में लोगो को पैनिक होने की आवश्यकता नही है। वही उन्होंने बताया की अब तक शहर में 800 से अधिक बेड की क्षमता हो चुकी है और कोरोना के खिलाफ जंग में स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से सतर्क है।

फिलहाल, दिल्ली से आई पहली रिपोर्ट के बाद इंदौर में कोरोना पॉजिटिव मरीजो की संख्या बढ़ चुकी है। अब इंतजार है आज आने वाली रिपोर्ट का जिसके बाद ही ये साफ हो पायेगा की प्रशासन की कोरोना के खिलाफ अगली रणनीति क्या होगी और कैसे इंदौर में कोरोना के प्रभाव को 3 मई के पहले कम किया जा सकेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here