Indore News: अन्नपूर्णा लोक मंदिर में आज से प्रतिदिन लगेगा भोग, अनाथालयों और वृद्धाश्रमों में भेजा जाएगा प्रसाद

Sanjucta Pandit
Published on -

Indore News : इंदौर में आषाढ़ मास की गुप्त नवरात्रि के अवसर पर नवश्रृंगारित अन्नपूर्णा लोक मंदिर में प्रतिदिन मां अन्नपूर्णा, मां काली एवं मां सरस्वती को सुबह 10.30 बजे फलों एवं अन्य व्यंजनों का भोग समर्पित कर प्रसाद का वितरण शहर के वृद्धाश्रम, अनाथालयों एवं निःशक्तजनों की संस्थाओं में भी किया जाएगा। अन्नपूर्णा लोक में गुप्त नवरात्रि के दौरान प्रतिदिन केले, मोसम्बी, आम, चीकू, हलवा, नुक्ति, खीर आदि प्रसाद का भोग लगाया जाएगा।

भक्तों की संख्या में बढोतरी

मंदिर में प्रतिदिन सुबह 9 से 12 बजे एवं दोपहर 3 से सायं 6 बजे तक दुर्गा सप्तशती पाठ से मां की आराधना का क्रम भी नवमी तक आचार्य पं. किशोर जोशी के मार्गदर्शन में जारी रहेगा। इसमें प्रतिदिन 11 पंडित भाग लेंगे। आश्रम के महामंडलेश्वर स्वामी विश्वेश्वरानंद गिरि एवं न्यासी मंडल के प्रमुख विनोद अग्रवाल, श्याम सिंघल एवं भक्त मंडल के किशोर गोयल ने बताया कि मंदिर की समय सारिणी भी तय कर दी गई है। बता दें कि मंदिर के नूतन श्रृंगार के बाद भक्तों की संख्या में निरंतर बढोतरी दर्ज हो रही है।

रात 11 बजे तक खुला रहेगा मंदिर

अन्नपूर्णा लोक मंदिर प्रतिदिन सुबह 6 बजे से खुलेंगे और रात 11 बजे तक खुले रहेंगे। सुबह की आरती 9 बजे एवं शाम की आरती सायं 7.15 बजे होगी। भक्तों के लिए एक समय प्रसाद समर्पण के लिए सेवा शुक्ल 3,100 रु. निर्धारित किए गए हैं। दान देन वाले भक्तो के नाम मंदिर के बाहर चलने वाली स्वचलित पट्टिका पर भी प्रदर्शित किए जाएंगे। पिछले लगभग एक माह से प्रसाद वितरण की यह नई व्यवस्था लागू कर दी गई है।

मंगल राजपूत, इंदौर


About Author
Sanjucta Pandit

Sanjucta Pandit

मैं संयुक्ता पंडित वर्ष 2022 से MP Breaking में बतौर सीनियर कंटेंट राइटर काम कर रही हूँ। डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन और बीए की पढ़ाई करने के बाद से ही मुझे पत्रकार बनना था। जिसके लिए मैं लगातार मध्य प्रदेश की ऑनलाइन वेब साइट्स लाइव इंडिया, VIP News Channel, Khabar Bharat में काम किया है। पत्रकारिता लोकतंत्र का अघोषित चौथा स्तंभ माना जाता है। जिसका मुख्य काम है लोगों की बात को सरकार तक पहुंचाना। इसलिए मैं पिछले 5 सालों से इस क्षेत्र में कार्य कर रही हुं।

Other Latest News