बुरे फंसे कंप्यूटर बाबा, दर्ज हुई एक और एफआईआर

इंदौर के एरोड्रम थाने में कंप्यूटर बाबा के खिलाफ एक और एफआईआर दर्ज हुई है| यह एफआईआर मारपीट और जान से मारने का प्रयास करने के संबंध में दर्ज करायी गई है

इंदौर, आकाश धोलपुरे | भाजपा (BJP) और कांग्रेस (Congress) के शासन काल में राज्यमंत्री का दर्जा पा चुके नामदेव दास त्यागी उर्फ कम्प्यूटर बाबा (Computer baba) की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं| एक बाद एक मामलों का खुलासा हो रहा है| अब इंदौर (Indore) के एरोड्रम थाने में कंप्यूटर बाबा के खिलाफ एक और एफआईआर दर्ज हुई है| यह एफआईआर मारपीट और जान से मारने का प्रयास करने के संबंध में दर्ज करायी गई है।

जानकारी के मुताबिक, अम्बिकापुरी एक्सटेंशन निवासी राजेश खत्री पिता रामप्रकाश खत्री ने शुक्रवार को कम्प्युटर बाबा के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी है। बताया गया है कि राजेश खत्री और उनके आस-पास के निवासियों में कम्प्युटर बाबा से उसके अम्बिकापुरी एक्सटेंशन में स्थित आश्रम में अनेतिक गतिविधि रोकने एवं अवैध कब्जा हटाने का कहा गया था। मोहल्ले के 40-50 लोगों ने कम्प्युटर बाबा के विरूद्ध इस संबंध में नगर निगम में शिकायत की थी।

राजेश खत्री का कहना है कि जब वो एक से ड़ेढ़ माह पूर्व कम्प्युटर बाबा से मिलने गये थे और बाबा से कहा उनके आश्रम में हो रही अनैतिक गतिविधियां जिसमें नयी-नयी महिलाओं एवं बच्चियों को आश्रम में लाने एवं आश्रम के बाहर भी उनके साथ अनैतिक कृत्य करते है तथा अपराधिक प्रवृत्ति के लोग उनके संरक्षण में फारारी काटते हैं क्योंकि हम लोग यहां पर परिवार सहित निवास करते हैं ऐसी गतिविधि यहां पर नहीं होना चाहिए। इस पर कंप्यूटर बाबा भड़क गए और जोर-जोर से चिल्लाने लगे तथा गालियां देने लगे और उन्होंने कहा कि तेरी हिम्मत कैसे हुई। राजेश खत्री ने पुलिस ने को बताया कि बाबा की धमकी से मैं डर गया तथा वहां से अपने घर चला आया। आधे घंटे बाद ही रात्रि करीब 10 बजे कंप्यूटर बाबा और उनके साथी गाड़ी से तलवार सहित उतर कर मेरे घर में जबरन घुस गए और मेरे साथ मारपीट करने लगे और मुझे अभद्र गालियां देने लगे। बाबा तलवार से हमला करने लगा तो मेरे साथी मुकेश दुबे एवं सुभाष शर्मा जी ने बीच-बचाव किया। बाबा और उसके साथी वहां से भागते हुए यह कहते हुए कि आज तो तू बच गया है अगर आगे से तूने मेरे खिलाफ कोई शिकायत की तो तुझे जान से खत्म कर दूंगा। तू मुझे जानता नहीं है। मैं तुझे और तेरे परिवार की लाश का पता भी चलने नहीं दूंगा।

डर के कारण नहीं की रिपोर्ट
राजेश खत्री ने बताया कि मैं डर गया था और इस कारण से मैं घटना की रिपोर्ट पुलिस थाने में नहीं कर पाया था, लेकिन जब मैंने अखबार में समाचार पड़ा कि बाबा के विरुद्ध पुलिस रिपोर्ट दर्ज हो रही है। इसलिए मैं हिम्मत करके मेरे साथ पूर्व में हुई घटना की रिपोर्ट अपने साथी मुकेश एवं सुभाष के साथ की है।

इधर, इंदौर में सरकारी जमीन पर अतिक्रमण हटाने के दौरान पिछले सप्ताह गिरफ्तार किए गए नामदेव दास त्यागी उर्फ कम्प्यूटर बाबा को जमानत मिलने के बाद पुलिस ने दूसरे मामले में फिर गिरफ्तार कर लिया है। थाना गांधीनगर में 12 नवंबर को कंप्यूटर बाबा के विरुद्ध एससी-एसटी एक्ट का केस दर्ज किया गया था। इस मामले में अपराध के अनुसंधान में कंप्यूटर बाबा की आवश्यकता होने से शुक्रवार को गांधीनगर पुलिस की ओर से धारा 267 दंड प्रक्रिया संहिता का आवेदन प्रोडक्शन वारंट जारी करने हेतु रिमांड कोर्ट बृजेश सिंह के न्यायालय में आवेदन प्रस्तुत किया गया। न्यायालय में शासन की ओर से जिला अभियोजन अधिकारी अकरम शेख उपस्थित हुए। श्री शेख के तर्कों से सहमत होते हुए न्यायालय द्वारा कंप्यूटर बाबा को शनिवार को न्यायालय में उपस्थित रखने हेतु प्रोडक्शन वारंट जारी किया गया। जिसके पालन में कंप्यूटर बाबा को कल शनिवार को न्यायालय में प्रस्तुत किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here