पुलिस टीम पर हमला, मुठभेड़ में एक बदमाश को लगी गोली, दो गिरफ्तार

इंदौर| मध्य प्रदेश के इंदौर में बदमाशों को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हमला हो गया| बदमाश पुलिस टीम पर फायर कर फरार होने की फ़िराक में थे| मुठभेड़ में एक बदमाश को गोली लगी है। वहीं पुलिसकर्मियों को भी हल्की चोट आई हैं। पुलिस ने दो बदमाशों को पकड़ लिया है| 

जानकारी के मुताबिक यह मामला मंगलवार सुबह का है। पिछले दिनों अन्नपूर्णा थाना क्षेत्र के सरस्वती नगर के मंगलमूर्ति अपार्टमेंट में फ्लैट के ताले तोड़कर गहने-रुपए की बड़ी चोरी हुई थी। इसी मामले में पुलिस बदमाशों को पकड़ने निकली थी, पुलिस को जानकारी मिली की दो बदमाश कार से इंदौर की तरफ जा रहे है। पुलिस की टीम ने बदमाशों की कार का पीछा किया।  मानपुर के पास बदमाशों को शक हो गया कि पुलिस उनका पीछा कर रही है। इस पर बदमाशों ने पुलिस वाहन को कार से टक्कर मार दी। टक्कर मारने के बाद कार में सवार बदमाश उतरकर भागने लगे। पुलिस ने उन्हें ललकारा तो बदमाशों ने फायर कर दिए। पुलिस ने भी बचाव में फायर किए। पुलिस की गोली से एक बदमाश कैलाश मोरे मामूली घायल हो गया वहीं दूसरे बदमाश अजय को घेराबंदी कर पकड़ा गया। 

ऐसा बदमाशों तक पहुंची पुलिस  

चोरी के मामले की जब पुलिस ने जांच की तो सीसीटीवी में एक कार दिख रही थी। कार के बारे में जानकारी जुटाकर पुलिस ने जांच शुरू की। पता चला कि कार के नंबर फर्जी है। बदमाश चोरी के बाद इंदौर से महाराष्ट्र की ओर भागे थे। पुलिस ने टोल टैक्स के सीसीटीवी फुटेज चेक किए तो एक टोल से तो गाड़ी निकली, लेकिन दूसरे टोल से नहीं निकली। पुलिस का शक गहराया। पुलिस ने मॉडल और नंबर के हिसाब से गाड़ी ढूंढ़ी तो गाड़ी मालिक का मोबाइल नंबर मिला।  मोबाइल नंबरों को ट्रैक करने पर बदमाशों के महाराष्ट्र में होने की जानकारी पुलिस को लगी। पुलिस को महाराष्ट्र के धुले निवासी कैलाश मोरे की जानकारी लगी जो वहां का कुख्यात अपराधी है। मोरे चोरों की एक गैंग का सरगना है जो देश के कई राज्यों चोरी की वारदात को आंजाम देते है। पुलिस ने रैकी कर चोर गैंग की जानकारी जुटाई।   आरोपियों के पास से चोरी के गहने और 1.40 लाख रुपए नगद बरामद किए गए है। पुलिस के अनुसार आरोपियों के दो साथी अब भी फरार हैं जिनकी तलाश की जा रही है।