अदब की दुनिया के लिए बुरी खबर, नहीं रहे मशहूर शायर राहत इंदौरी

इंदौर, आकाश धोलपुरे

प्रसिद्ध फिल्मी गीतकार और उर्दू के मशहूर शायर राहत इंदौरी (Rahat Indori) का कोरोना के कारण निधन हो गया है। उन्हें मंगलवार की सुबह की इंदौर के अरविंदो अस्पताल में कोरोना पाजिटिव रिपोर्ट आने के बाद भर्ती कराया गया था। उन्होंने खुद ट्वीट करके इस बात की जानकारी दी थी और वे स्वास्थ्य लाभ भी कर रहे थे कि अचानक उन्हें हृदयाघात हुआ और डॉक्टरों के तमाम प्रयासों के बाद भी उन्हें नहीं बचाया जा सका। राहत इंदौरी ने शाम 4 बजकर 40 मिनिट पर अंतिम सांस  ली। ह्रदय रोग के चलते पहले उन्हें सीएचएल हॉस्पिटल ले जाया गया था जहां से अरविंदो अस्पताल भेजा गया।

राहत इंदोरी ने शुरुवाती दौर में इंद्रकुमार कॉलेज, इंदौर में उर्दू साहित्य का अध्यापन कार्य शुरू किया था। उनके छात्रों के मुताबिक वह कॉलेज के अच्छे व्याख्याता थे। फिर बीच में वो मुशायरों में व्यस्त हो गए और पूरे भारत से और विदेशों से निमंत्रण प्राप्त करना शुरू कर दिया। उनकी अनमोल क्षमता, कड़ी लगन और शब्दों की कला की एक विशिष्ट शैली थी जिसने बहुत जल्दी व बहुत अच्छी तरह से जनता के बीच लोकप्रिय बना दिया। राहत साहब ने बहुत जल्दी ही लोगों के दिलों में अपने लिए एक खास जगह बना लिया और तीन से चार साल के भीतर ही उनकी कविता की खुशबू ने उन्हें उर्दू साहित्य की दुनिया में एक प्रसिद्ध शायर बना दिया था। वह न सिर्फ पढ़ाई में प्रवीण थे बल्कि वो खेलकूद में भी प्रवीण थे,वे स्कूल और कॉलेज स्तर पर फुटबॉल और हॉकी टीम के कप्तान भी थे। वह केवल 19 वर्ष के थे जब उन्होंने अपने कॉलेज के दिनों में अपनी पहली शायरी सुनाई थी।

अरविंदो हास्पिटल के डॉक्टर महक भंडारी ने बताया कि आज ह्रदयाघात से उनका निधन हो गया।