महाराष्ट्र ब्राह्मण सहकारी बैंक घोटाले की खुलेंगे फाइल, सुमित्रा महाजन ने दी यह सफाई

इंदौर। इंदौर में हुए महाराष्ट्र ब्राह्मण सहकारी बैंक में 30 करोड़ के घोटाले को लेकर अब पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने सफाई देते हुए कहा मेरा विश्वास कि मेरे बेटे पर कोई आंच नहीं आएगी। सरकार को घोटाले की फाइलें खोलने दो, इस मामले की कई बार जांच हो चुकी है। 

महाराष्ट्र ब्राह्मण सहकारी बैंक के हितग्राहियों को सबसे पहले हमने ही 1 -1 लाख रुपए दिलवाए थे इंदौर की महाराष्ट्र ब्राह्मण सहकारी बैंक में 1997 से 2004 के बीच करीब 30 करोड़ रुपए का घोटाला हुआ था। जिसके बाद 2005 में ये बैंक डूब गई थी। जिसमें हजारों लोगों की जीवनभर की कमाई चली गई थी। उस समय बैंक के डायरेक्टर सुमित्रा महाजन के बड़े बेटे मिलिंद महाजन थे। इसी दौरान व्यक्तिगत और सामूहिक रुप से भ्रष्ट्राचार किया गया। अपात्र लोगों को लोन बांट दिया गया। जिससे बैंक को करीब 30 करोड़ रुपए की चपत लग गई। जब इस मामले की शिकायतें हुईं तो मिलिंद महाजन समेत 16 लोगों के खिलाफ 2005 में सेंट्रल कोतवाली थाने में एफआईआर दर्ज हुई। उस समय सुमित्रा महाजन केन्द्रीय मंत्री थी और राज्य में बीजेपी की सरकार थी इसलिए पुनर्विवेचना में मिलिंद महाजन का नाम हटा दिया गया लेकिन अब राज्य में कांग्रेस की सरकार है इसलिए इस मामले की फाइलें फिर खोलीं जा रहीं हैं जिस पर अब सुमित्रा महाजन सफाई दे रहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here