NEET की तैयारी कर रहे बैतूल के छात्र ने इंदौर में की खुदकुशी, सुसाइड नोट भी छोड़ा

पुलिस को मौके से एक सुसाइड नोट भी मिला है

इंदौर, आकाश धौलपुरे। मध्यप्रदेश के बैतूल से इंदौर (Indore) आकर NEET एग्जाम की तैयारी करने आए एक छात्र ने अपने रूम पर फांसी लगाकर जान दे दी। मृतक छात्र का सपना था, कि वो डॉक्टर बनकर समाज की सेवा करें, लेकिन एग्जाम के पहले तैयारी पूरी न होने के चलते वो डिप्रेशन में आ गया और उसके बाद उसने प्राणघातक कदम उठा लिया।

यह भी पढ़े…जेम्स वेब टेलीस्कोप की मदद से ब्रह्मांड की पहली डीप रंगीन तस्वीर आई सामने , देखकर उड़ जाएंगे आपके होश

सूचना के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मृतक छात्र के शव को फंदे से उतारकर पोस्टमार्टम के लिए एम.वाय.अस्पताल भेज दिया। पुलिस को मौके से एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें मृतक छात्र ने लिखा है, कि इसमें किसी की गलती नहीं है किसी को परेशान नहीं किया जाए।

NEET की तैयारी कर रहे बैतूल के छात्र ने इंदौर में की खुदकुशी, सुसाइड नोट भी छोड़ा

यह भी पढ़े…सिंदूर के इन उपायों से दूर होगी पैसों की तंगी, तरक्की में भी होगा फायदा

बताया जा रहा है कि इंदौर के पलासिया थाना क्षेत्र के सेवा सरदार नगर में किराए का रूम लेकर नीट की तैयारी कर रहे प्रथम आर्य नामक छात्र ने अपने रूम में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। छात्र बैतूल के पाटाखेड़ा का रहने वाला था और 3 महीने पहले ही इंदौर में आकर उसने तैयारी करना शुरू की थी। छात्र डॉक्टर बनने का सपना लेकर आया था और उसकी एग्जाम भी नजदीक थी ऐसे में उसने अपने दोस्तों से चर्चा की थी कि वहां नीट की तैयारी तो कर रहा है लेकिन परीक्षा में सफल नहीं हो सकेगा। बताया जा रहा है कि परीक्षा के तनाव में आकर उसने अपनी जान दे दी। वही पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला है, जिसमें मृतक ने अपनी मौत से पहले लिखा था, कि इसमें किसी की गलती नहीं है किसी को परेशान नहीं किया जाए।

यह भी पढ़े…कांग्रेस ने गुजरात- हिमाचल प्रदेश चुनावों के लिए नियुक्त किये ऑब्जर्वर, इन्हें मिली जिम्मेदारी

पलासिया पुलिस के जांच अधिकारी अंतर सिंह सोलंकी ने बताया कि पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है, वही मृतक के शव को पीएम के लिये भेज दिया गया है।