भैय्यू महाराज सुसाइड केस : पलक और सेवादार कर रहे थे ब्लैकमेल, शादी के लिए दी थी धमकी

Bhaiyyu-Ji-maharaj-suicide-case-palak-and-vinayak-was-blackmailing-

इंदौर| पिछले साल 12 जून 2018 को इंदौर में राष्ट्रीय संत भैय्यू जी महाराज की खुदकुशी के मामले ने न सिर्फ इंदौर को झकझोर कर दिया था बल्कि सारा देश इस घटना से हैरान था, क्यूंकि अध्यात्म शिक्षा देने वाला संत आखिर कैसे जिंदगी से हार गया, ऐसा क्या कारण रहा कि उन्होंने अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली| कई सवाल और जवाब कुछ नहीं|  इसके बाद पुलिस खुदकुशी की वजहो का पता लगाने में जुट गई थी और कई तथ्य पुलिस जांच के सामने आने के बाद सामने आए। महाराष्ट्र से आए भैय्यू जी महाराज के भक्तों ने जब उच्च स्तरीय जांच की मांग कुछ माह पूर्व की थी तब से ही पुलिस ने मामले में कार्रवाई तेज कर दी थी। शनिवार को इंदौर डीआईजी हरिनारायणचारि मिश्र ने मीडिया को बताया कि किस तरह से भैय्यू जी महाराज अपने सेवादारो और एक युवती से परेशान थे और आखिर में उन्होने उस समय अपनी मनोस्थिति के हिसाब से खुदकुशी करने का फेसला लिया था। फिलहाल, पुलिस ने सेवादार विनायक, शरद देशमुख और पलक नाम की युवती को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश कर दिया जिसके बाद कोर्ट ने तीनो आरोपियों को जेल भेजने के निर्देश दिए। 

डीआईजी ने बताया कि प्रारंभिक तौर पर जांच में ऐसे तथ्य नही आए थे कि 306 जैसी कोई कार्रवाई की जाएं लेकिन एक माह पूर्व कला स्नान के एक व्यक्ति ने एक अज्ञात काॅल कर 5 करोड की फिरौती की मांग की थी जिसकी गहराई से जांच की तो पता चला कि ड्रायवर कैलाश पाटिल मामले से जुडा था और उसकी गिरफ्तारी के बाद कई अज्ञात पहलुओ से पर्दा उठा। पहले छवि के नजदीकियों द्वारा जानकारी नही दी गई थी लेकिन कैलाश की गिरफ्तारी के बाद  नए सिरे से 125 लोगो से पूछताछ की गई जिसके बाद 28 लोगो के आधिकारिक बयान लिए गए। जिसके बाद 3 आरोपी विनायक, शरद और युवती पलक को गिरफ्तार किया गया | वही पूरे प्रकरण में परिजनो व नजदीकी लोगो के बयान के साथ ही डिजिटल एविडेंस याने युवती द्वारा भेजे गए मैसेज को आधार बनाया गया। 

पलक ने शादी के लिए दी थी धमकी, दोनो सेवादार भी साजिश में शामिल

पूरे मामले में द्वारकापुरी निवासी पलक नामक युवती सबसे बडा चेहरे के रुप में सामने आई जिसकी सहायता से सेवादार विनायक और शरद ने एक ऐसा जाल बुना जिसमें भैय्यू जी महाराज उलझते चले गए। युवती के नाम पर दोनो ही आरोपी समय समय ब्लैकमेल कर भैय्यू जी  महाराज से मोटी रकम ऐंठते थे और युवती ने महाराज की शादी के दौरान भी हंगामा खडा करने की कोशिश की थी | जिसके बाद युवती ने भैय्यू जी महाराज से दूसरी शादी करने के लिए जून 2018 तक का वक्त दिया था जिसके बाद भैय्यू जी महाराज तनाव में रहने लगे आखिरकार उन्होनें जून में आत्महत्या कर ली। पुलिस अब इस मामले में ठोस सबूत कोर्ट में पेश करेगी और उम्मीद की जा रही है कि आत्महत्या के लिए विवश करने वाले तीनो आरोपियो को कडी सजा मिल सके। जानकारी मिली है कि युवती ने प्रेम संबंध बनाकर महाराज से लाखों रुपए ऐंठ लिए थे। वह शादी का दबाव बना रही थी। पुलिस ने तीनों आरोपितों को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है। पलक ने धमकी देते हुए था कहा कि 16 जून को शादी करें, वरना शनि महाराज जैसा हाल होगा।