नागरिकता संशोधन विधेयक पारित होते ही इंदौर में जश्न, पाक शरणार्थियों ने आतिशबाजी कर मिठाइयां बांटी

इंदौर। मोदी सरकार की पहल पर नागरिकता संशोधन विधेयक पारित हो जाने के बाद जहां एक तरफ विधेयक के खिलाफ कानूनी लड़ाई की तैयारी हो रही है। वहीं देश में लाखों ऐसे शरणार्थी भी हैं जो दशकों से इस विधेयक के पारित होने का इंतजार कर रहे थे। इंदौर में ऐसे ही सैकड़ों लोगों ने संस्था देवपथ की पहल पर नागरिकता संशोधन विधेयक के पारित होते ही आतिशबाजी की और एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर बधाइयां दी। 

दरअसल इंदौर में पाकिस्तान के जैकबाबाद से बीते 20 सालों में आए करीब 10000 से ज्यादा सिंधी समुदाय के शरणार्थी रह रहे हैं। यह सभी भारत की नागरिकता पाने के लिए तरह-तरह के प्रयास कर रहे थे। अब जबकि मोदी सरकार ने नागरिकता से संबंधित संशोधन विधेयक पारित कर दिया है, तो सभी को उम्मीद जगी है कि जो पाकिस्तानी शरणार्थी यहां कई सालों से रह रहे हैं। उन्हें स्थाई रूप से भारत की नागरिकता मिल सकेगी। हालांकि इन तमाम लोगों के परिवार आज भी पाकिस्तान के सिंध प्रांत में है, जो अपने घर बार छोडक़र भारत नहीं आना चाहते। हालांकि इन परिवारों के अधिकांश रिश्तेदार भारत के विभिन्न शहरों में बस चुके हैं। लिहाजा अब जबकि नागरिकता संशोधन विधेयक पारित हो चुका है, तो जो पाकिस्तानी शरणार्थी भारत में नागरिकता लेना चाहेंगे उन्हें नागरिकता मिलने में सुविधा होगी। साथ ही वह पासपोर्ट और वीजा के आधार पर जब चाहे तब पाकिस्तान भी जा सकेंगे।