टाट पट्टी बाखल के चार दोषियों पर कलेक्टर ने लगाई रासुका

इंदौर। शहर के टाटपट्टी बाखल में हुई घटना लेकर कलेक्टर मनीष सिंह ने आरोपियों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई कि है| मध्य प्रदेश के मिनी मुंबई कहे जाने वाले शहर इंदौर में डॉक्टरों के साथ हुई मारपीट ओर पथराव का मामला गरमाया हुआ है| इस बीच आरोपियों पर रासुका की कार्रवाई की गई है| सभी आरोपियों को रीवा जेल भेजा जा जायेगा|

कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी मनीष सिंह ने टाट बट्टी बाखल मामले में राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम 1980 की धारा तीन की उपधारा दो के तहत कार्यवाही की है । रासुका में निरुद्ध किए गए इन दोषियों को केंद्रीय जेल रीवा में रखे जाने के आदेश मनीष सिंह जिला दंडाधिकारी द्वारा दिए गए हैं। जिन पर रासुका लगायी गई है उनके नाम मोहम्मद मुस्तफ़ा पिता हाजी मोहम्मद इस्माइल उम्र 28 साल, मोहम्मद गुलरेज पिता हाजी अब्दुल गनी उम्र 32 साल, सोयब उर्फ़ सोभी पिता मोहम्मद मुख्तियार उम्र 36 साल और मज्जू उर्फ़ मजीद पिता अब्दुल गफूर उम्र 48 साल है सभी टाट पट्टी बाखल इंदौर के बाशिंदे हैं।

टाटपट्टी बाखल में हुई घटना की कलेक्टर मनीष सिंह ने कड़ी निंदा की है। उन्होंने डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ, आशा कार्यकर्ता के साथ की गई बदतमीजी एवं दुर्व्यवहार को बहुत ही आपत्तिजनक बताया। उन्होंने कहा कि पूरा मेडिकल स्टाफ रात-दिन एक करके शहर की सुरक्षा के लिए कार्य कर रहा है। ऐसे में लोगों का दुर्व्यवहार क्षमनीय नहीं है। उन सभी व्यक्तियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही करना सुनिश्चित कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि, लोगों की स्क्रीनिंग के लिए गए डॉक्टर एवं पैरामेडिकल स्टाफ के साथ टाटपट्टी बाखल क्षेत्र में बदतमीजी की गई, उन पर पथराव भी किया गया।