Indore News : जेल में छलके कंप्यूटर बाबा के आंसू, जीतू पटवारी बोले- कांग्रेस खड़ी है साथ

पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने मीडिया से बातचीत कर प्रदेश की शिवराज सरकार (Shivraj Government) पर जमकर हमला बोला। जीतू पटवारी ने कहा कि जो निर्माण तोड़ा गया वो विधायक निधि, जनपद और पंचायत की निधि से बना हुआ था।

JITU PATWARI

इंदौर, आकाश धोलपुरे। रविवार सुबह अचानक हरकत में आये जिला प्रशासन इंदौर (Indore Administration) द्वारा कंप्यूटर बाबा (Computer Baba) के आश्रम की कार्रवाई पर सोमवार (Monday) को कांग्रेस ने सवाल खड़े कर दिए है। सोमवार को जहां एक तरफ जहां प्रशासन बाबा के अन्य अवैध निर्माणों को नेस्तोनाबूद करने में लगा था तो दूसरी ओर कांग्रेस (Congress) जन जेल में कंप्यूटर बाबा से मुलाकात करने पहुंचे। इसके बाद पूर्व विधायक और दिग्गज कांग्रेसी नेता अश्विन जोशी ने एक बड़ा तर्क सामने रखा और मीडिया से कहा कि जब शासकीय निधि कही लगती है तो उसकी तस्दीक होती है कि जमीन वैध है कि नही।

अश्विन जोशी ने कहा BJP सरकार के अधिकारियों ने उसे वैध माना तब ये अवैध कैसे हो सकता है। बता दे कि कंप्यूटर बाबा का गोमटगिरी स्थित आश्रम और निर्माण जिला प्रशासन ने अवैध मानते हुए पहले नोटिस भेजा था और रविवार को प्रशासन ने समूचे आश्रम और निर्माण को नेस्तोनाबूत कर कंप्यूटर बाबा सहित 6 लोगो पर कार्रवाई कर जेल भेज दिया था।

पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने सीएम शिवराज पर दोहरे रवैये का लगाया आरोप

सोमवार को कंप्यूटर बाबा से जेल में मुलाकात के लिए शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल, विधायक संजय शुक्ला, विधायक विशाल पटेल, सांवेर से कांग्रेस प्रत्याशी प्रेमचंद गुड्डू (Premchand Guddu), पूर्व विधायक अश्विन जोशी, जिला अध्यक्ष सदाशिव यादव और पूर्व मंत्री व राउ विधायक जीतू पटवारी (Jeetu Patwari)  भी पहुंचे। कंप्यूटर बाबा को प्रिवेंटिव डिटेंशन के तहत हिरासत में लेकर सेंट्रल जेल (Central jail) भेजा गया था जहां कंप्यूटर बाबा ने कांग्रेसियों से रुआंसे होकर चर्चा की और तमाम जानकारियां भी दी।

इधर, पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने मीडिया से बातचीत कर प्रदेश की शिवराज सरकार (Shivraj Government) पर जमकर हमला बोला। जीतू पटवारी ने कहा कि जो निर्माण तोड़ा गया वो विधायक निधि, जनपद और पंचायत की निधि से बना हुआ था। उन्होंने सवाल उठाया कि सरकार ने सरकारी पैसे से कैसे अवैध निर्माण की परमिशन दी ये प्रश्नचिन्ह खड़ा करते है। वही जो बंदूक मिली उस बंदूक का कंप्यूटर बाबा के पास लायसेंस है।

वही उनके आश्रम में कार्रवाई के दौरान टब, क्रीम सहित अन्य चीजों के मामले में कंप्यूटर बाबा ने कांग्रेस नेताओं से कहा कि ये सब झूठ है। वही कंप्यूटर बाबा ने कांग्रेस नेताओं से कहा कि साधु संतों के साथ ऐसा व्यवहार शिवराज सरकार करेगी ये अंदाजा नही था। वही पूर्व मंत्री ने मीडिया को बताया कि एक तरफ हिंदुत्व के नाम का झंडा बुलंद करने वाले भारतीय जनता पार्टी के लोग साधु संतों को इतनी यातनाएं देंगे ये बात कंप्यूटर बाबा ने आंखों में आंसू लाकर बताई।

वही उन्होंने ये भी कहा कि 15 साल तक शिवराज जी की स्तुति करे तो ये साधु संत और महात्मा और जैसे ही बाबा ने कहा कि आपने नर्मदा सेवा योजना में घोटाले क्यों किये और अवैध खनन क्यों हो रहा है तो वो शैतान हो गए। वही जीतू पटवारी ने कहा शिवराज सिंह दो चश्मों से साधु संत को देखते है एक मेरे पक्ष के एक मेरे विरोधी। वही उन्होंने साधु के संतों के विरोध को लेकर सीएम शिवराज (Shivraj Singh Chauhan) को हिटलर बताया और कहा कि यदि साधु संत भी विरोधी है तो शिवराज सिंह जैसा हिटलर आदमी छोड़ेगा नही ये शिवराज बताना चाहते है। वही पूर्व मंत्री ने कहा कि शिवराज जी एक अच्छा राजा नियम, कायदे, कानून और संविधान का न्याय के लिए उपयोग करता है और एक खराब राजा बदला लेने के लिए उपयोग करता है तो बदला लेने वाले जितने भी राजा इतिहास में रहे है उनका अस्तित्व इतिहास में नही दिखा।

पटवारी ने कहा तीन बार शिवराज चुनकर मुख्यमंत्री बने एक बार अतिक्रमण करके मुख्यमंत्री बने वही सवाल उठाते हुए पूर्व मंत्री ने कहा कि बाबा के अतिक्रमण पर आपत्ति और आपने सत्ता अतिक्रमण (Encroachment) से हथियाई उस पर वाहवाही ये दोहरा मापदंड शिवराज जी का क्यो है ये सवाल प्रदेश की जनता के सामने है। पटवारी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी बाबा के साथ है उनके न्यायसंगत पूरे व्यवहार के साथ है। वही उन्होंने कहा कि कांग्रेस, जिला प्रशासन, बीजेपी और शिवराज सरकार की निंदा करती है। वही कंप्यूटर बाबा की जमानत की अर्जी लगा दी गई है जिस पर कलेक्टर को निर्णय लेना ये बात भी पूर्व मंत्री ने कही है।

हालांकि, अब बाबा पर कार्रवाई तो हो चुकी है ऐसे में अब सवाल ये उठ रहा है कि बाबा जेल से बाहर आने के बाद क्या कदम उठाते है फिलहाल, अतिक्रमण मामले में कांग्रेस ने कई सवाल प्रशासन और सरकार पर उठाये जिनके जबाव भी वक्त रहते सामने आने की संभावना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here