स्ट्रांग रूम की सुरक्षा को लेकर कांग्रेस चिंतित, प्रशासन कर रहा पुख्ता सुरक्षा का दावा

congress-in-tension-for-EVM-strong-room-in-indore

इंदौर। आकाश धोलपुरे।

विधानसभा चुनाव के बाद जिले की नौ विधानसभा सीटों की 3116 ईवीएम नेहरू स्टेडियम के स्ट्रांग रूम में सीलबंद हैं। लेकिन कांग्रेस ने इनकी सुरक्षा और पारदर्शिता पर सवालियां निशान लगाया है।यही नहीं कांग्रेस ने नियमों का हवाला देते हुए विशेष निगरानी की अनुमति भी मांगी थी। कांग्रेसियों का कहना है कि अनुमति मिलने के बाद भी उन्हें निगरानी नहीं करने दी जा रही है। दरअसल नेहरू स्टेडियम के प्रथम तल पर विधानसभा क्षेत्र एक, दो और देपालपुर की वहीं दूसरे कमरे में विधानसभा क्षेत्र तीन, चार, पांच, सांवेर और राऊ की ईवीएम रखी हैं। एक अन्य कमरे में महू की ईवीएम रखी है। इन सभी कमरों की सुरक्षा के लिए डबल ताले लगाए गए हैं और इन तालों को फोकस करते हुए सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, इन स्ट्रांग रूम की सुरक्षा के लिए वेबकास्टिंग भी की जा रही है और वहां एक एलईडी मॉनिटर में लगातार इन स्ट्रांग रूम के बाहर का लाइव प्रदर्शन किया जा रहा है। हालांकि इतनी सुरक्षा को नाकाफी बताते हुए कांग्रेस ने स्ट्रांग रूम के बाहर रहने, सोने की मंजूरी मांगी थी। चुनाव आयोग के निर्देश पर जिला प्रशासन ने अनुमति दे भी दी है लेकिन कांग्रेस का कहना है कि स्ट्रांग रूम के बाहर नियनानुसार उन्हें निगरानी नहीं करने दी जा रही है।इसकी शिकायत उन्होंने आयोग को की है।

हालांकि अब प्रशासन ने स्टेंडिंग कमेटी की बैठक बुलाई है। एडीएम निधि निवेदिता का कहना है कि स्ट्रांग रूम को लेकर सख्त व्यवस्था है, सीसीटीवी लगे हुए हैं, वेबकास्टिंग हो रही है, जो राजनीतिक दल, प्रत्याशी मंजूरी मांग रहा है, वह दी जा रही है। राजनीतिक दलों को स्ट्रांग रूम का दौरा भी कराएंगे। 

कांग्रेसियों द्वारा सुरक्षा को लेकर ली गई आपत्ति, दी गई टेंट लगाने की अनुमति

स्ट्रांग रूम निरीक्षण करवाने के लिए शनिवार को जिला निर्वाचन द्वारा सभी प्रत्याशियों के प्रतिनिधियों को नेहरू स्टेडियम बुलाया गया। इससे पूर्व कलेक्टर कार्यालय स्टैंडिंग कमेटी की बैठक आयोजित की गई जिसने अधिकांश कांग्रस प्रत्याशी प्रतिनिधियों द्वारा आपत्ति ली गई इस दौरान कांग्रेसी प्रत्याशियों दुवारा स्ट्रांग रूम पर  सीधी नजर रखने के लिए स्ट्रांग रूम के बाहर नेहरू स्टेडियम में टेंट लगाने की इजाजत दी जाए जिस पर जिला निर्वाचन द्वारा दो लोगों के लिए नेहरू स्टेडियम टेंट लगाने की अनुमति दे दी गई।