समझाइश के बाद कांग्रेस नेता ने बदला आत्मदाह का फैसला, इस बात से थे खफा

इंदौर।आकाश धौलपुरे।

कांग्रेस के शीर्ष नेताओं की एसपीजी सुरक्षा हटाने के बाद बीते दिनों इंदौर में कांग्रेस नेताओं पर प्रकरण दर्ज हुआ जिसके बाद राजीव विकास केंद्र के अध्यक्ष देवेंद्र यादव ने इंदौर के पंढ़रीनाथ थाने के सामने गुरुवार को आत्मदाह करने की पूर्व में घोषणा की थी।  जिसके चलते थाने के सामने भारी पुलिस बल लगाया गया।

दरअसल कांग्रेस की सिरमौर सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की एसपीजी सुरक्षा हटाने के बाद इंदौर में राजीव विकास केंद्र व कांग्रेस के नेताओं द्वारा पुरजोर विरोध किया जा रहा है और इसी के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह का पुतला भी दहन किया गया था।जिसके बाद पुलिस ने अयोध्या मामले के फैसले के चलते लगी 144 धारा के तहत सभी कांग्रेस नेताओं पर प्रकरण दर्ज किये थे । कांग्रेस शासित राज्य और कमलनाथ सरकार के रहते उन्हीं के नेताओं पर प्रकरण दर्ज होने के बाद कांग्रेस नेता देवेंद्र यादव ने अपनी ही सरकार की पुलिस के खिलाफ मोर्चा खोला और  गुरुवार यानी कि आज पंढरीनाथ पुलिस थाने के सामने आत्मदाह करने की घोषणा मीडिया के माध्यम से की थी। घोषणा के मद्देनजर गुरुवार को पंढरीनाथ थाने पर भारी पुलिस बल लगाया गया लेकिन कांग्रेस नेता ने अपने पैर पीछे करते हुए कहा की प्रदेश के गृहमंत्री, नगर अध्यक्ष व कईं नेताओं के समझाने के बाद अब उन्होंने आत्मदाह का फैसला वापस ले लिया है, याने की वह अब आत्मदाह नही कर रहे है हालांकि  कांग्रेस नेता यादव ने कहा कि एसपीजी सुरक्षा हटाये जाने को लेकर भाजपा और केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ उनका आंदोलन निरंतर जारी रहेगा।