आईडीए कुर्सी के लिए एक बार फिर उठापटक तेज, कांग्रेस नेता झोंक रहे ताकत

भोपाल/इंदौर।

मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार आने के बाद से कांग्रेस नेताओं की पदों पर निगाहें टिकी हैं। इंदौर विकास प्रधिकरण के अध्यक्ष को लेकर भी उठापटक शुरू हो गई है। कांग्रेस नेताओं ने लॉबिंग तेज़ करदी है। कई दिग्गज कांग्रेस नेताओं के समर्थक इस दौड़ में शामिल है। आईडीए की कुर्सी के लिए कांग्रेस में एक बार फिर घमासान तेज हो गया है।  हाल ही में इस कुर्सी के बंटवारे को लेकर एक बैठक भी हो चुकी है। 15 साल बाद सत्ता में वापस लौटी कांग्रेस इस बार फूंक-फूकंकर कदम रख रहीं है। इसके लिए हर तरह के नेता के नाम सामने आ रहें है।

चुनाव के समय जिन्हें मौका नहीं मिला वे दौड में सबसे आगे

विधानसभा चुनाव के दौरान जिन लोगों को पहले मौका नहीं मिला है, उसके लिए अभी से घमासान तेज हो गया है। टिकट की दौड़ में शामिल कई नेता अभी से प्रयास में है कि उन्हें आईडीए अध्यक्ष की कमान मिल जाए। तीन कांग्रेस के दिग्गज के बीच मुकाबला शुरू हो गया है, जो इन नेताओं के गुट से तालुक रखते है। इन सब नेताओं का नाता इंदौर से है।

कांग्रेस सूत्रों की माने तो दो- तीन नामों पर पार्टी में विचार विमर्श शुरू हो गया है। इस कुर्सी के लिए घमासान तेज हो गया है, जो विधानसभा चुनाव का टिकट मांग रहें थे, लेकिन उन्हें नही दिया गया था, संभवत उनको मौका मिल सकता है। कांग्रेस के कई दिग्गज नेताओं के समर्थक आईडीए कुर्सी के लिए कतार में है, लेकिन आईडीए अध्यक्ष की कुर्सी पर पार्टी ऐसे व्यक्ति को काम दिया जाए जिसके सहारे पार्टी का नाम हो सके।