इंदौर, आकाश धोलपुरे| प्रदेश में कोरोना (Corona) के कारण इंदौर (Indore) पर लगातार आफत बढ़ रही है और अब तो आलम ये है कि हर रोज 200 से ज्यादा संक्रमित मरीज सामने आ रहे है। जिस माह मार्च माह में कोरोना के संक्रमित मामले 3 हजार के करीब थे और 105 के करीब लोगो की मौत हुई थी लेकिन अब स्थिति बिल्कुल अलग हो गई है। वही कोरोना वारियर्स की मौत का सिलसिला भी लगातार जारी है। इंदौर में हाल ही निगम दरोगा जगदीश करोसिया की जान कोरोना के चलते हो गई थी और उनकी मौत को अभी एक सप्ताह भी नही बीता की इंदौर के एमटीएच अस्पताल (MTH Hospital) में कोविड मरीजो की सेवा करने में लगी स्वास्थ्यकर्मी शालिनी नामक नर्स की जान भी कोरोना के चलते चली गई है।

जानकारी के मुताबिक एमटीएच अस्पताल में सेवारत स्वास्थ्यकर्मी शालिनी का कोरोना महामारी से दुखद निधन हो गया है। सहकर्मियों के मुताबिक शालिनी कर्तव्यनिष्ठ नर्स थी और मरीजों की सेवा के दौरान वो भी कोविड-19 का शिकार हो गई थी। इंदौर में कोविड के नोडल अधिकारी डॉक्टर अमित मालाकार ने नर्स की मौत की पुष्टि करते हुए बताया की कोविड -19 के प्रारंभिक दौर से ही शालिनी एमटीएच अस्पताल में आईसीयू में कार्यरत रही है और उन्हें जब भी जो भी ड्यूटी दी गई उसे उन्होंने पूरी बहादुरी से निभाया है।
फिलहाल, इंदौर के लिहाज ये एक और बुरी खबर है कि एक नर्स कोविड के काल के गाल में समा गई जो कि मानव सेवा के लिए इस कठिनतम दौर में हमेशा तत्पर रही है। इस जानकारी के सामने आने के बाद समूचे स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों में शौक की लहर है और हर स्वास्थ्यकर्मी, कोरोना योद्धा के कर्तव्य की तारीफ कर उन्हें अपने श्रद्धा सुमन अर्पित कर रहा है।