मप्र में चेकपोस्टों पर भ्रष्टाचार, परिवहन निरीक्षक के खिलाफ परिवहन संगठनों ने खोला मोर्चा

बॉम्बे गुड्स ट्रांसपोर्ट असोसिएशन ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, परिवहन मंत्री, परिवहन आयुक्त और सचिव सहित कई लोगों को पत्र के माध्यम से सेंधवा बेरियर पर हो रहे भष्ट्राचार की लिखित शिकायत की है

इंदौर, आकाश धोलपुरे| मध्य प्रदेश परिवहन चेकपोस्टो पर हो रहे भ्रष्टाचार के खिलाफ परिवहन संगठनों ने मोर्चा खोल दिया है| इंदौर ट्रक एवं ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष, ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस के बाद अब राजस्थान राज्य के सगठनों ने अवैध वसूली के खिलाफ आवाज बुलंद की है| बॉम्बे गुड्स ट्रांसपोर्ट असोसिएशन ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, परिवहन मंत्री, परिवहन आयुक्त और सचिव सहित कई लोगों को पत्र के माध्यम से सेंधवा बेरियर पर हो रहे भष्ट्राचार की लिखित शिकायत की है|

पत्र में कहा गया है कि मध्य प्रदेश में सभी चेक पोस्टों में प्रवेश शुल्क के नाम पर 3 हजार रुपए की उगाही की जाती है, जिसके बारे में देश भर के असोसिएशन के सदस्य नियमित रूप से यह मामला उठा रहे हैं| वहीं बालसमुद सेंधवा चेकपोस्ट पर स्थिति अत्यधिक गंभीर है| जहां गाढ़ी से सम्बंधित उचित और कानून के अनुसार दस्तावेज रखने वाले गरीब और कमजोर ट्रक वालों को नहीं बख्शा जाता है, उनसे पैसा वसूला जाता है| यहां तक कि उस सीमा को पार करने वाले खाली वाहनों को भी प्रवेश शुल्क देना पड़ता है| नहीं तो गाड़ियों को बारह घंटे खंडा रहना पड़ता है क्यूंकि कागजात अधिकारी अपने कब्जे में रख लेते हैं| ट्रक और ट्रांसपोर्टर्स उत्पीड़न और जबरन वसूली से काफी ट्रस्ट हैं|

शिकायत में सेंधवा बेरियर प्रभारी डीपी पटेल और उनके अधिनस्थ राहुल कुशवाह की नामजद शिकायत है। पत्र में कहा गया है कि अवैध चेकपोस्ट प्रभारी डीपी पटेल और राहुल कुशवाहा खुलेआम भ्रष्ट गुंडों, उपद्रवियों के साथ बालसमुद सेंधवा चेकपोस्ट सीमा पर जबरदस्ती वसूली कर रहे हैं| इस मामले को उजागर करने के बावजूद ड्राइवरों को डराया जा रहा है एंट्री के नाम पैसे लूटे जा रहे हैं| डीपी पटेल और उनके लोग जबरन परेशान कर रहे है। यहां पर हर गाड़ी को 3000 रूपये की एंट्री देना होती है। यहां तक की खाली गाडियों को भी नहीं छोड़ा जाता है। जिन गाडि़यों के चालक पैसा देने से इंकार कर देते है। उनके कागज कर्मचारी रख लेते है और गाडियों को 12-12 घंटे तक खड़ा रखा जाता है। बीते दिनों इंदौर के ट्रांसपोर्टर की गाड़ी को भी ऐसे ही खड़ा रखा गया था। यहां पर लूट चालू है, इसलिए पटेल को यहां से हटाया जाए और इस लूट को बंद कर राहत दिलवाई जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here