इंदौर| मध्यप्रदेश के वन आच्छादित क्षेत्रो में से एक वन क्षेत्र में पुलिस के सामने ऐसा मामला सामने आया जिसकी जानकारी मिलते ही क्षेत्र में सनसनी फैल गई। दरअसल, पूरी घटना इंदौर की महू तहसील के सिमरोल थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले माता गोदरा के जंगल की है जहां एक सप्ताह पहले घर से गये एक अधेड़ की सिर कटी लाश मिली है। इतना ही नही लाश का ना सिर्फ सिर बल्कि उसका एक हाथ भी नही है। लाश मिलने के बाद आस पास के अन्य क्षेत्रों में दहशत पैदा हो गई है | 

बताया जा रहा है जिस व्यक्ति की लाश है उसका नाम गोवर्धन पिता दुलीचंद मोरे निवासी ग्राम तलाई सिमरोल है। गोवर्धन के परिजनों की माने तो वो बीते शुक्रवार से घर गायब है जिसके बाद घर वालो को लगा कि वो हमेशा की तरह अपने रिश्तेदारों के घर गया होगा लेकिन जब कुछ समय गुजर जाने के बावजूद वो घर नही लौटा तो परिजनों ने पहले तो रिश्तेदारो से जानकारी ली इसके बाद पुलिस को सूचना दी। मृतक के बेटे किशोर मोरे की माने तो एक सप्ताह बाद उसके पिता की लाश सिमरोल के जंगल वाले इलाके माता गोदरा में मिली है। बेटे के अनुसार उसके पिता पहले मिस्त्री का काम करते थे और बीते कुछ माह से वो कुछ नही कर रहे मानसिक हालत खराब होने के चलते वो अक्सर जंगल मे लकड़ी लेने चले जाते थे इस बार भी ऐसा हुआ लेकिन जब वो घर नही लौटे तो पुलिस को सूचना दी गई जिसके बाद चार दिनों तक चली सर्चिंग में आखिरकार उसके पिता की सिर व हाथ कटी लाश मिली। 

परिजनों के मुताबिक उन्हें किसी पर भी शंका नही है वही परिजन ये भी बता रहे है कि उन्हें नही लगता है कि जंगल के कोई जानवर ने उन पर हमला किया होगा। इधर, इस रहस्मयी घटना पड़ताल में जुटी हुई इंदौर पुलिस पूरे मामले की सूक्ष्मता से जांच कर रही है क्योंकि पुलिस को गोवर्धन का सिर्फ धड़ बरामद हुआ है ऐसे में सबसे पहले पुलिस शरीर से अलग हुए सिर व हाथ को खोजने में जुटी हुई है। इधर, मृतक के शव के उस हिस्से को पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया जो तफ्तीश के दौरान पुलिस को जंगल मे मिला था अब पुलिस पोस्टमार्टम की प्रारंभिक रिपोर्ट का इंतजार करने के साथ ही परिजनों से पूछताछ के बाद ही सिर कटी लाश के रहस्य से पर्दा उठा पाएगी क्योंकि मामला गम्भीर है। लिहाजा, पुलिस हर एक बिंदु को बारीकी से जांच कर, तफ्तीश में जुटी हुई है।