इंदौर crime 5: माली की गलती से डॉ. की मौत और अवसाद से ग्रस्त महिला ने लगाई फांसी

इंदौर। आकाश धौलपुरे। 

इंदौर के गांधी नगर थाना क्षेत्र की संपत विहार कॉलोनी में अपनी बेटी को नानी के घर छोड़ने जा रहे डॉक्टर को महंगा पड़ गया। दरअसल, बेटी त्रिशा, संपत विहार कालोनी में रहने वाली नानी के घर अपने पापा डॉ. जगदीश पिता सिध्देश्वर सोनी और त्रिशा के नाना सुधीर सोनी के साथ दोपहिया वाहन पर जा रही थी। दो पहिया वाहन चला रहे डॉ. जगदीश और उनकी बेटी अपने ससुराल से 100 मीटर की दूरी पर थे कि अचानक नायलोन की एक रस्सी उनके गले पर आ पड़ी और अचानक हुए हादसे के बाद डॉ. जगदीश संभल नही पाए और उनका गला काट गया और खून बहने लगा जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। बताया जा रहा है की संपत विहार कालोनी की टँकी भरने के लिए कालोनीनायजर के आदेश के बाद सड़क पर माली ने 5 फिट ऊंची रस्सी बांध दी थी जिससे डॉ. जगदीश का वाहन टकराया और उनकी मौत हो गई वही उनकी बेटी और ससुर को हल्की चोंट पहुँची है। डॉ. के शव को पुलिस गांधी नगर ने पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया। घटना के सामने आने के बाद समूची कालोनी में शौक की लहर है। 

-महिला ने लगाई फांसी, पति के वियोग और अवसाद से थी परेशान

इंदौर के तेजाजी नगर थाना क्षेत्र की शिवधाम कालोनी में रहने वाली एक महिला ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। दरअसल, 35 वर्षीय पलक पति  जितेश बन्गेजा ने 3 दिन ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। पलक के पिता कुलवंत होरा की माने तो उसके दूसरे पति जीतेश ने उसे ड्रग एडिक्ट बना दिया था। बताया जा रहा है कि 2 दिन तक पलक का शव घर मे ही रहा इस दौरान उसके दो डॉगी उसके आस पास रहे और अंत तक वो पलक के शव के पास रुंआसे बैठे रहे। गुरुवार को पलक का दोस्त उससे मिलने घर पहुंचा इसके उसके पलक के भाई को फोन पर जानकारी दी। इसके बाद पलक का भाई और फ्लैट में रहने वाले लोग पहुंचे और पुलिस को जानकारी दी गई इसके पलक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा था इस दौरान दोनों डॉगी पलक के साथ गाड़ी में बैठ गए। पलक के परिजनों का आरोप है कि ड्रग एडिक्ट करने के बाद उससे तलाक लेने की कोशिश कर रहा था जिससे पलक अवसाद में रहने लगा। जिसके बाद उसने फांसी लगा ली। इधर, पुलिस पूरे मामले की तलाश में जुट गई है। 

-कोबरा ने साँप के जानकार को ऐसे डंसा की हो गई उसकी मौत

इंदौर के खुड़ैल में रहने वाला मोरोद हाट में रहने वाला 48 साल का कमल सिंह रावत कोबरा सांप के काटने से मौत हो गई। बताया जा रहा है कि कमल नेमावर रोड़ के समीप पशु चरा रहा था इसी दौरान वह घास काटने लगा इसी दौरान एक कोबरा सांप ने कमल के हाथ पर काट लिया जिसके बाद सांप पकड़ने में माहिर कमल ने दूसरे हाथ से पकड़ना चाहा तो उसे कोबरा ने तीन बार और डंस लिया जिसके बाद कमला वहां से भाग खड़ा हुआ। लोगो ने उसे इलाज के अस्पताल भिजवाया जहां एक दिन बाद उसकी मौत हो गई। खुड़ैल पुलिस ने मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। 

-सराफा में 5 बंगाली कारीगरों को पुलिस ने इसलिये किया गिरफ्तार

इंदौर की शान सराफा बाजार में जहां रात को लजीज व्यंजनों से रौनक बनी रहती है वही दिन में यहां सोने चांदी के आभूषणों का कारोबार होता है और बाजार के दोनों पिछले हिस्सो में गहनों को तराशने व डिजाइन का काम होता है। पुलिस को सूचना मिली थी की बाजार के पिछले हिस्सो की बहुमंजिला इमारतों और भवनों के बेसमेंट सभी नियमो को ताक पर रखकर बिना सुरक्षा संशाधनों के छोटे छोटे गैस सिलेंडर और भट्टियां लगाकर ज्वेलरी बनाते थे इसके बाद मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर पुलिस ने बंगाली कारीगर और कारखाना संचालक सुशांत सामंत, जग्गनाथ हजरा, शेख अय्यूब, कार्तिक बेरा और भास्कर धावरी निवासी पश्चिम बंगाल को। गिरफ्तार कर लिया। 

– मुफ्त मे नाश्ते को लेकर निगमकर्मी और दुकानदार में विवाद, दुकान संचालक गर्म तेल से झुलसा

इंदौर द्वराकापुरी थाना क्षेत्र में मुफ्त में नाश्ता मांगने के नाम पर निगमकर्मी ने एक दुकानदार को धमकाया और उसके बाद हाथापाई की। दरअसल, राजेश मित्तल नामक दुकानदार रोज की तरह नाश्ते की दुकान लगाकर काम कर रहा थ उसी दौरान एक निगमकर्मी ने कार्रवाई की धमकी देकर फ्री में नाश्ते की डिमांड की जिसके बाद राजेश ने निगमकर्मी को मना किया तो वो हाथापाई पर उतर आया और इसी बीच राजेश तेल की गर्म कढ़ाई में झुलस गया इसके बाद उसे इलाज के लिए एम. वाय. अस्पताल ले जाया गया। इधर, पुलिस ने मामले  जांच शुरू कर दी है वही निगम के आला अधिकारियों की माने तो शिकायत सही पाई गई तो निगमकर्मी पर कार्रवाई की जाएगी।