चोइथराम प्रबंधन की मनमानी के खिलाफ कर्मचारी लामबंद, कलेक्ट्रेट में किया विरोध

employees-protest-against-choithram-management-

इंदौर. इंदौर के धार रोड़ स्थित चोइथराम नेत्रालय और चोइथराम कॉलेज प्रबंधन के खिलाफ बुधवार दोपहर को कर्मचारी लामबंद होकर विरोध पर आमदा हो गए, जिसके बाद कर्मचारियों ने हड़ताल शुरू कर दी। दरअसल, कर्मचारियों की शिकायत है कि धारा रोड़ के नावदा पंथ पुल के समीप स्थित चोइथराम नेत्रालय प्रबंधन द्वारा आये दिन कर्मचारियों को परेशान किया जाता है जिसके बाद 75 से अधिक कर्मचारियों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी है। बता दे कि बड़ी संख्या में कर्मचारियों में महिला कर्मचारी भी शामिल है जिन्हें आये दिन प्रबंधन द्वारा अपशब्द कहकर काम कराया जाता है। बुधवार प्रबन्धन के खिलाफ शिकायत लेकर कर्मचारियों ने कलेक्टर कार्यालय में जमकर प्रदर्शन किया और नारेबाजी कर जिला कलेक्टर के नाम अपनी शिकायत एसडीएम को सौंपी। कर्मचारियों का नेतृत्व करने वाले सुपरवाइजर जितेंद्र चौहान ने बताया कि वो 10 वर्षो से काम संभाल रहे है और उनका अनुभव है कि कर्मचारियों के प्रति अस्पताल प्रबंधन के आदित्य व्यास और कृष्णा खुटाल द्वारा अमानवीय रवैया अपनाया जाता है। मजबूरी में दो वक्त की रोटी की तलाश में काम कर रहे गरीब युवको और महिलाओं से अपशब्द कहकर काम कराया जाता है। जितेंद्र चौहान ने आरोप लगाया कि प्रबंधन द्वारा 5 मिनिट की देरी से आने वाले कर्मचारी का आधे दिन का वेतन काट लिया जाता है इतना ही नही कोई कर्मचारी को छुट्टी भी नही दी जाती है यहां तक कि यदि किसी ने छुट्टी ले ली तो उसे नौकरी से बाहर निकाल दिया जाता है। हाल ही में प्रबंधन ने 2 महिलाओ को काम से निकाला है जो पूरी निष्ठा के साथ काम करती थी वही आरोप ये भी लगाए जा रहे है श्रम कानूनों का पालन नही करने के साथ ही कर्मचारियों के पीएफ की जानकारी भी उन्हें नही दी जा रही है। प्रबंधन के ख़िलाफ लामबंद हुई महिला कर्मचारियों ने भी चोइथराम नेत्रालय प्रबंधन को जमकर कोसा और माना कि उनके साथ प्रबंधन का व्यवहार ठीक नही है। फिलहाल, इस मामले में  जब अस्पताल प्रबंधन से जानकारी मांगी गई तो कोई भी जबाव देने को राजी नही हुआ।