भोपाल। नोटबंदी के बाद से लोगों के दिलो में एक तरह का डर बैठ गया कि सरकार कभी भी नए नोट भी बंद कर सकती है। इस तरह के डर को बढावा देने में फर्जी वाट्सएप मैसेज ने काफी मदद की है। एक बार फिर सोशल मीडिया पर एक संदेश वायरल हो रहा है जिसमें दावा किया जा रहा है कि सरकार 31 दिसंबर 2019 के बाद 2000 का नोट बंद कर देगी। इस वायरल मैसेज से कारोबारियों में सनसनी फैल गई है। व्यापारी बैंक के चक्कर लगाकर दो हजार के नोट जमा कर रहे हैं। जबकि केंद्र सरकार और रिजर्व बैंक की ओर से ऐसा कोई आदेश नहीं आया है। लेकिन फर्जी मैसेज से लोगों में डर का माहौल बन गया है। 

इंदौर के लोहा कारोबारी मनोज शर्मा के मुताबिक, ऐसे संदेशों के बाद कई कारोबारी एहतियात बरतते हुए पहले से ही नोट बैंकों में जमा करवा रहे हैं ताकि बाद में परेशान न होना पड़े। कुछ लोगों ने तो ज्यादा बड़ा भुगतान दो हजार के नोटों के रूप में लेना बंद कर दिया है। बीते दिनों से लाखों रुपए के ऐसे नोट व्यापारी बैंक खातों में जमा करवा चुके हैं। व्यापारियों को अंदेशा है कि अचानक नोट बंद हो सकते हैं। हालांकि सोशल मीडिया पर चले मैसेज झूठ हो सकते हैं लेकिन कोई भी कारोबारी अब खतरा नहीं उठाना चाहता।

बैंक ऑफ महाराष्ट्र के उपमहाप्रबंधक प्रफुल्ल सोमण के मुताबिक, अभी दो हजार के नोट बंद करने का कोई आदेश नहीं है। सरकार जब भी ऐसा करती है तो नोट बदलवाने के लिए पर्याप्त समय भी देती है। बीते विमुद्रीकरण में भी करीब छह महीने का समय दिया था। लोगों को घबराना नहीं चाहिए। फिर भी कुछ लोग सोशल मीडिया से फैली अफवाह के कारण दो हजार के नोट जमा करवाने आ रहे हैं।