राहुल गांधी के ट्रोल हो रहे वीडियो पर पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने दी सफाई

इस वीडियो को उदयपुर की घटना से जोड़कर बताया गया।

इंदौर, आकाश धौलपुरे। देशभर में राहुल गांधी (rahul gandhi) के एक वीडियो की चर्चा इन दिनों जोरो पर है। वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल भी है लेकिन वीडियो में घटना के संदर्भ को लेकर सवाल उठ रहे है। दरअसल, कांग्रेस के बड़े नेता राहुल गांधी के एक बयान को उदयपुर हत्याकांड से जोड़कर वायरल किया गया है जबकि असल मे वायनाड में उनके कार्यालय पर हुई तोड़फोड़ को लेकर उन्होंने बयान जारी किया था। वही देश के बड़े मीडिया समूह ने उनके बयान संदर्भ ही बदल दिया था। बताया जा रहा है कि वीडियो में वायनाड दफ्तर तोड़फोड़ मामले में राहुल गांधी ने कहा था वीडियो में राहुल गांधी ने कहा था कि जिन बच्चों ने ये काम किया है वो गैर जिम्मेदाराना है, लेकिन वो इन ‘बच्चों’ से नाराज नहीं है। इस वीडियो को उदयपुर की घटना से जोड़कर बताया गया।

यह भी पढ़े…बिहार में बुलडोजर कार्रवाई का हिंसक विरोध, एसपी सहित दो पुलिसकर्मी घायल

इधर, राहुल गांधी की छवि धूमिल होते देख अब कांग्रेस विरोध के मूड में है। मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री और राहुल गांधी के करीबियों में से एक नेता जीतू पटवारी ने राहुल गांधी में बयान पर मचे बवाल को लेकर बीजेपी पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि बीजेपी में सभी लोग ऐसे नही है लेकिन कई लोग बीजेपी की ट्रोल आर्मी के हिस्से के रूप में नफरत फैलाने में कसर नही छोड़ते है।

यह भी पढ़े…MPPEB : उम्मीदवारों के लिए नई अपडेट, 1300 से अधिक पदों पर होगी भर्ती, जाने पात्रता और नियम

वही राहुल गांधी के वायरल वीडियो पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने सोशल मीडिया पर वीडियो जारी कर सफाई दी और कहा कि भारत देश भगवान राम का, कृष्ण का, रहीम और बौद्ध का देश है। इस देश ने ज्ञान दिया विश्व को प्रेम,मोहब्बत ओर भाईचारे कि रक्षा का लेकिन उदयपुर में जो घटना हुई उसमे दो दरिंदे सामने आये। जिसकी पूरे देश ने निंदा कि और सभी धर्म के लोगो ने इस घटना कि निंदा की है ऐसे दरिंदो को फांसी होना चाहिए।

यह भी पढ़े…Xiaomi 12S और Xiaomi 12S Ultra बस एक दिन बाद होगा लॉन्च, सामने आ गए फीचर्स और लुक, जाने

वही पटवारी में बीजेपी पर सवाल उठाते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी की ट्रोल आर्मी नफरत फैलाने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है। उन्होंने कहा कि उदयपुर के आरोपियों के बीजेपी नेताओं से संबंध थे और उनके साथ नेताओं के फोटो और वीडियो है।आरोपियों का नेताओं के साथ उठना बैठना था। ये पूर्व मंत्री पटवारी ने कहा कि देश हमारा है ओर हम सब मिल कर इसे सवारेंगे। फिलहाल, पटवारी का सफाई वाला बयान अब सोशल मीडिया पर वायरल है।