हादसा : पाइपलाइन से अचानक निकली गैस और हुआ ब्लास्ट, 2 बुरी तरह झुलसे, बाइक जलकर हुई खाक

gas-pipeline-fire-two-burned-after-fire-catches-during-maintenance-indore

इंदौर।

मध्यप्रदेश के इंदौर शहर में रविवार शाम बड़ा हादसा हो गया।यहां तेजपुर गड़बड़ी के पास सीवरेज की खुदाई के दौरान निकली गैस की पाइपलाइन फूट गई और आग लग गई । मिनटों में आग ने ऐसा विकराल रुप ले लिया  कि वहां से शादी का कार्ड लेने गुजर रहे युवक-युवती आग की चपेट में आ गए। बाइक में आग लगने से वे झुलस गए और गाड़ी खाक हो गई।घायलों को इलाज के लिए एमवाय अस्पताल में भर्ती कराया गया। सोमवार सुबह करीब 11 बजे दोनों को एमवाय की बर्न यूनिट से परिजन निजी अस्पताल में ले गए।हैरानी की बात तो ये रही कि  घटना के करीब 18 घंटे बाद पुलिस घायलों की सुध लेने के लिए निजी अस्पताल पहुंची।मामला मीडिया में भी सोमवार को पहुंचा।

           घटना रविवार शाम की है। तेजपुर गड़बड़ी से मेन रोड पर मिल रही सड़क के कोने पर  अवंतिका गैस पाइप लाइन को सुधारा जा रहा था। मजदूर ड्रिल मशीन और जेसीबी के जरिए सड़क के किनारे गड्ढा खोदकर गैस पाइप निकाल रहे थे। पाइप में छेद हो जाने से इलाके में गैस फैल गई थी। अचानक गड्ढे से चिंगारी निकली और आग लग गई। आग गड्ढे और आसपास फैल गई थी।इसी दौरान वहां से गुजर रहे  हादसे में आजाद नगर निवासी अफसर (36) और तेजपुर में रहने वाली वर्षा (22) आग की चपेट में आ गए हैं। अफसर तेजपुर गड़बड़ी में उसका वाहन सुधारने और डेंटिंग पेंटिंग का गैराज है। वहां मोहन और उसका बेटा राहुल चौकीदारी करते हैं। रविवार शाम को मोहन की बेटी वर्षा की एक सहेली मंडी चौराहे पर शादी की पत्रिका देने आई थी। सहेली ने वर्षा का घर नहीं देखा था, इसलिए वह सहेली को लेने जा रही थी। वर्षा का भाई घर पर नहीं था, इसलिए उसने अफसर को साथ चलने को कहा। जब वे दोनों एक बाइक पर मंडी की तरफ जाने लगे तो वहां चल रही खुदाई के दौरान अचानक ब्लास्ट हुआ और आग लग गई। उसकी चपेट में अफसर की बाइक आ गई। वे दोनों कूदकर भागे। वर्षा के हाथ जल गए हैं। वहीं अफसर के दोनों हाथ, सीना, चेहरा और सिर जल गया है। दोनों की हालत खतरे से बाहर है।दोनों का जूनी इंदौर इलाके के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है।  सोमवार सुबह करीब 11 बजे दोनों को एमवाय की बर्न यूनिट से परिजन निजी अस्पताल में ले गए। घटना के करीब 18 घंटे बाद पुलिस घायलों की सुध लेने के लिए निजी अस्पताल पहुंची।हालांकि जैसे ही मामला मीडिया मे आया पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने गैस एजेंसी से संपर्क करके जानकारी मांगी गई है। लापरवाही पाए जाने पर एजेंसी और ठेकेदार के खिलाफ केस दर्ज किया जाएगा।

जलती सिगरेट से लगी आग

कुछ लोगों का कहना है खुदाई को दौरान मजदूरों ने लापरवाही की। इससे गैस पाइप लाइन फूट गई। वहां गैस रिसने लगी। इसी दौरान किसी कार सवार ने जलती सिगरेट नाली में फेंकी। उसकी चिंगारी से आग लग गई। लोगों ने बताया घटना के बाद आधा घंटे तक आवाजाही रुकी रही। रविवार को मोदी की सभा होने के कारण फायर ब्रिगेड उसमें लगा हुआ था। कुछ देर बाद दमकल के चार कर्मचारी आए और उन्होंने संघर्ष के बाद आग पर काबू पाया। 

नही लगा था कोई सूचना का बोर्ड

वही घटना के बाद खुदाई का काम कर रहे कर्मचारी मौके से भाग गए थे। करीब आधे घंटे पर सूचना पर दमकल की गाड़ी मौके पर पहुंची थी। इसके पहले आसपास के दुकानदारों ने आग बुझाने का प्रयास किया था। सोमवार को भी काम बंद पड़ा रहा। गड्ढे के आसपास सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं थे। कार्य प्रगति पर है, ऐसी सूचना का बोर्ड भी नहीं लगा था। कर्मचारी गड्ढा खुला छोड़कर चले गए। अंधेरे में हादसा होने की आशंका बनी हुई है।