यहां निकली अनोखी बारात, दौड़ता दूल्हा, भागते बाराती

इंदौर। अपनी शादी को खास बनाने के लिए लोग क्या क्या नहीं करते, डेस्टिनेशन वेडिंग से लेकर लाखों करोड़ो रुपए तक खर्च कर लोगों का ध्यान खींचते हैं। लेकिन इंदौर में हुई एक शादी और अनोखी बारात ने हर किसी को चौंका दिया। यहां निकली एक बारात में दूल्हा आगे दौड़ रहा था और बाराती पीछे पीछे भाग रहे थे। जिसने भी दौड़ते दूल्हे और भागती बारात को देखा हैरान रह गया और जब इस अनोखी बारात के पीछे का कारण जाना तो तारीफ किये बिना कोई नहीं रह सका।

दरअसल, सोमवार शाम को नीरज मालवीय ने अपनी शादी अनोखे अंदाज में की। उन्होंने बारातियों के साथ दशहरा मैदान से दौड़ लगाना शुरू की और विवाह स्थल से थोड़ा पहले तक दौड़कर ही गए। इनके साथ 50 से अधिक बाराती थे और वे भी दौड़ रहे थे। नीरज एक फिजिकल ट्रेनर हैं और लोगों को फिट रहने, वर्कऑउट करने के लिए लोगों को संदेश देने के लिए दौड़ते हुए बारात निकाली। इसके साथ ही इस बारात ने पर्यावरण संरक्षण का संदेश भी दिया। शादी में प्लास्टिक का उपयोग नहीं किया गया। डिस्पोजल की जगह स्टील के बर्तन उपयोग में लिए गए।

नीरज शेरवानी पहन, गले में गुलाब के फूलों की माला, सिर पर कलगी से सजे साफे को बांधे दौड़ रहे थे। वहीं दूल्हे के साथ सूट-बूट पहने बाराती भी विवाह स्थल की ओर दौड़ते नजर आ रहे थे। इस बारात में 18 साल से लेकर 70 वर्ष की उम्र तक के लोग शामिल थे जो दौड़ते हुए पहुंचे। खंडवा नाका स्थित गणेश नगर निवासी नीरज ने दशहरा मैदान से दौड़ना शुरू किया और गंगवाल बस स्टैंड तक दौड़ लगाई। इसके बाद किला मैदान क्षेत्र से संगम नगर तक फिर दौड़ लगाई। इस पूरे सफर में बाराती जरूर दशहरा मैदान से संगम नगर तक पूरे रास्ते दौड़ते रहे।

इस अनोखी बारात को लेकर नीरज का कहना है कि दौड़ते हुए बारात निकालकर मैं यह संदेश देना चाहता हूं कि यदि दूल्हा होकर मैं दौड़ लगा सकता हूं तो अन्य लोग भी दौड़ लगा सकते हैं। बारातियों में अधिकांश ने पीली टीशर्ट पहनी थी, जिसके जरिए इस दौड़ का सार्थक संदेश ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाया जा सके।