जल्दबाजी ने ली कथावाचक की जान, ट्रेन में चढ़ते समय फिसला पैर

Accident in Indore: इंदौर रेलवे स्टेशन पर जल्दबाजी ने एक कथावाचक की जान ले ली। जानकारी के मुताबिक वह मालवा एक्सप्रेस में चढ़ने की कोशिश कर रहे थे। तभी अचानक से उनका पैर फिसला और वह ट्रेन के नीचे आ गए। यात्रियों के शोर मचाने के बाद ट्रेन रुकी और कथावाचक को एमवाय अस्पताल में भर्ती किया गया।

जानकारी के मुताबिक कथावाचक बालमुकुंद पीथमपुर के निवासी थे और भागवत कथा समेत अन्य कथाओं का वाचन करते थे। कथा वाचन करने के लिए वह उज्जैन जा रहे थे। मालवा एक्सप्रेस में सवार होने के लिए उन्होंने टिकट लिया था। प्लेटफार्म नंबर चार पर जब वो ट्रेन में सवार होने लगे तो संतुलन बिगड़ने की वजह से ट्रेन के नीचे फिसल गए। वह खुद को बचा पाते इससे पहले ही ट्रेन चलने लगी और उनका पैर कट गया।

हादसा होते देख लोगों ने शोर मचाना शुरू किया और ट्रेन को रोका गया। ट्रेन रोक कर बालमुकुंद को बाहर निकाला गया और एमवाय अस्पताल पहुंचाया गया। हादसे में उनका खून काफी ज्यादा बह गया था जिसकी वजह से उनकी जान नहीं बचाई जा सकी।