गेंहू, मक्का में आई तेजी, मूंग व तुअर में आई कमी, जानें आज 18 नवंबर का मंडी भाव

Mandi Bhav

Mandi Bhav, Mandi Bhav 18 November 2023 : इंदौर मंडी के गेंहू, चना, डॉलर चना, मक्का, सोयाबीन आदि फसलो के भाव दर्शाए गए है। वहीं देशी चना में कमी देखने को मिल रही है। मसूर, गेंहूं, डॉलर चना व उड़द में तेजी देखने को मिल रही है। वहीं मूंग में बीते दिन की अपेक्षा कमी देखने को मिल रही है।

आज की मंडी भाव की बात करें तो सोयाबीन के भाव में तेजी देखी गई है। जबकि मक्का, सरसों में तेजी देखने को मिल रही है। दलहन और तिलहन का कारोबार सामान्य बना हुआ है। अदरक में भी उछाल देखी जा रही है, प्याज में लगातार तेजी देखने को मिल रहा है। लहसुन में भी बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं।

सोयाबीन- 5331

गेंहू- 2481 से 3255

गेंहू सुजाता- 2691

मक्का- 2250

डॉलर चना- 9762 से 16500

देशी चना- 6505 से 8888

चना कांटा- 5400 से 7000

मसूर- 7835

मूंग- 9743

मूंग एवरेज- 9400

तुअर- 9506

तुअर सफेद महाराष्ट्र- 10233

तुअर कर्नाटक- 10500

निमाड़ी तुअर- 7000

सरसों- 5510

सरसों निमाड़ी- 5307

उड़द बोल्ड- 9900

उड़द मीडियम- 9190

हलका उड़द- 7000

सब्जी भाव

सेब- 5900 से 8000

केला- 800 से 2893

टमाटर- 1400 से 2823

कद्दू- 460 से 3600

खीरा- 700 से 2244

भिंडी- 800 से 2665

पालक– 1100 से 1500

करेला- 800 से 3094

लौकी- 400 से 1950

बैंगन- 300 से 1773

फुल गोभी- 200 से 1554

अदरक- 7392 से 18200

हरी मिर्च- 1500 से 3294

पपीता- 800 से 3029

अनानास- 1500 से 7500

पत्ता गोभी- 300 से 1537

हरा धनिया- 1200 से 2800

शिमला मिर्च- 1700 से 2805

मौसंबी- 1500 से 6900

टेंसी– 400 से 800

प्याज भाव

एक्स्ट्रा सुपर प्याज- 7000

सुपर प्याज- 3847

एवरेज प्याज- 860

आलू भाव

एक्स्ट्रा सुपर आलू- 2000

गुल्ला आलू- 1800

ज्योति आलू- 1600

चिप्सोना आलू- 1000

छांटन आलू- 600

लहसुन भाव

एक्स्ट्रा सुपर लहसुन- 23000

सुपर लहसुन- 13000

एवरेज लहसुन- 10503

मीडियम लहसुन- 8250

हलकी लहसुन- 3000

(Disclaimer- यहां दिए गए भाव व्यापारियों की जानकारी के मुताबिक दिए गए है, इनमे उतार चढ़ाव हो सकता है।)


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News