इंदौर के सबसे बड़े डेम का खोला गया गेट, रात से बारिश जारी, सैलानियों ने उठाया लुत्फ

मौसम विभाग की माने तो आने वाले कुछ दिनों में बारिश की कम संभावना है बावजूद इसके प्रशासन तैयार है।

इंदौर, आकाश धौलपुरे। मध्यप्रदेश के इंदौर (indore) सावन के पहले सोमवार को हुई 2 इंच की बारिश में सबसे पहले यशवंत सागर तालाब लबालब हो गया और ये ही वजह है तालाब पर बने डेम के एक गेट को 4 फीट तक खोल दिया गया।

यह भी पढ़े…Government Job 2022: यहाँ 18 पदों पर निकली है भर्ती, जानें आयु-पात्रता, 16 अगस्त से पहले करें आवेदन

दरअसल, इंदौर के भू – जल स्तर के लिहाज से इंदौर 7 तालाबों में यशवंत सागर पर निर्भरता अधिक है। वही यशवंत सागर में क्षमता के मुताबिक पानी आ गया है इसके अलावा पिछले 24 घण्टे से शहर में रुक रुककर हो रही बारिश के बाद बड़ी बिलावली, छोटी बिलावली, बड़ा सिरपुर, छोटा सिरपुर, पिपलियापाला और लिंबोदी तालाब में भी पानी लबालब भर गया है। शहर के भीतर जहां सड़के जलमग्न है, वहीं दूसरी ओर शहर के तालाब भर जाने से सैलानियों का भी प्रकृति के नजारे को निहारने का मौका मिला है।

यह भी पढ़े…CA Intermediate Result 2022 : इस तारीख को घोषित किए जाएंगे CA Intermediate के परिणाम, ऐसे करे चेक

बता दें कि इंदौर में अब करीब 20 इंच बारिश दर्ज की जा चुकी है। वही इस माह के अंत तक बारिश के आंकड़े में इजाफा होने की संभावना है। इंदौर के यशवंत सागर डैम का जायजा लिया एमपी ब्रेकिंग न्यूज संवाददाता आकाश धोलपुरे ने वहीं आए सैलानियों से भी की बात जिन्होंने बताया की बारिश में पहली बार डेम का गेट खोला गया है, जिसे निहारने व मौसम का मजा लेने के लिए परिवार सहित आए है यहा काफ़ी मजा भी आ रहा है।

यह भी पढ़े…फिल्म शमशेरा (Shamshera) से जुड़े कुछ रोचक और अनसुने तथ्य

बता दें कि यशवन्त सागर डेम का लगातार बारिश होने के चलते एक गेट खोला गया है वही इस गेट को बारिश रुकते 9 घण्टे बाद ठीक 4 बजकर 16 मिनिट पर बंद किया गया है। हालांकि मौसम विभाग की माने तो आने वाले कुछ दिनों में बारिश की कम संभावना है बावजूद इसके प्रशासन तैयार है।