कोरोना को लेकर इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वाथ्य अधिकारी ने कही ये बड़ी बात, जानें

ऐसे में अब सवाल उठ रहा है कि अन्य मौसमी बीमारियों के साथ - साथ कोरोना की आदत भी सभी को डाल लेना चाहिये।

इंदौर, आकाश धौलपुरे। मौसम के करवट लेते ही इंदौर में डेंगू, मलेरिया और अन्य मौसमी बीमारियों का प्रकोप शुरू हो गया और वही कोरोना के एपिसेंटर इंदौर (indore) में जुलाई माह के अंत मे 1 हजार से ज्यादा पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा पार कर लिया है। बताया जा रहा है कि जुलाई माह में कोरोना से 3 मौतें भी सरकारी आंकड़ों में दर्ज हो चुकी है। ऐसे में अब सवाल उठ रहा है कि अन्य मौसमी बीमारियों के साथ – साथ कोरोना की आदत भी सभी को डाल लेना चाहिये।

यह भी पढ़े…अगस्त में लॉन्च होंगे ये धाकड़ Smartphones, जानें सभी की खासियत

कोरोना को लेकर इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वाथ्य अधिकारी ने कही ये बड़ी बात, जानें

इसी बात को लेकर *एम.पी.ब्रेकिंग न्यूज ने इंदौर जिले के मुख्य चिकित्सा एवम स्वास्थ्य अधिकारी (indore chief medical and health officer) डॉ. बी.एस. सैत्या से बात की तो ये बात सामने आई कि मौसमी बीमारियों के साथ ही कोविड – 19 वायरस बना रह सकता है। एम.पी.ब्रेकिंग न्यूज से बातचीत के दौरान डॉ. बी.एस. सैत्या ने बताया कि 640 मरीजों का वर्तमान में इलाज जारी है जिनमे से 8 लोगो का इलाज अलग – अलग अस्पतालो में जारी है। वही बचे हुए मरीजों का घर पर ही इलाज जारी है।

यह भी पढ़े…दमोह : भाजपा की कलह आई सामने, केन्द्रीय मंत्री ने ही लगाए आरोप

संवाददाता आकाश धोलपुरे से बातचीत कर उन्होंने कहा कि दूसरे चरण के टीकाकरण के बाद नई गाइडलाइन के मुताबिक 6 माह के बाद बूस्टर डोज लगाया जा रहा है। वही उन्होंने ये भी कहा इंदौर ने टीकाकरण के दूसरे दौर का लक्ष्य हासिल कर लिया है।

यह भी पढ़े…B’day Special: Kiara Advani के बारे में कुछ अनसुने और दिलचस्प तथ्य

इसके साथ ही उन्होंने माना कि लोग अब टीकाकरण को लेकर रूचि नही दिखा रहे है ऐसे में एम.पी.ब्रेकिंग न्यूज के माध्यम से वे लोगो से अपील करते है लोग टीकाकरण अवश्य कराए और निर्धारित गाइडलाइन के आधार पर बूस्टर डोज भी लगवाए।