मास्क पहनकर धर्मस्थलों में प्रवेश की अनुमति, सराफा चौपाटी खुलेगी

सराफा चौपाटी पर लोगों को केवल पार्सल से मिलेंगे चटखारे

इंदौर, आकाश धोलपुरे। बीते 6 माह से बंद पड़े मंदिर, मस्जिद, गिरिजाघर और गुरुद्वारे अब इंदौर में खुल गए है। दरअसल, कोरोना संकट के बीच धर्मस्थलों पर प्रवेश की मनाही है, लेकिन आज इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह के आदेश क्रमांक 3505 ने शहर के श्रद्धालुओं और चाट के चटखारे लेने वालों के लिए एक बड़ी खुशखबरी दी है। ताजा आदेश में साफ किया गया है कि कुछ निश्चित नियमों के साथ धर्म स्थलों को खोला जायेगा। ताजा आदेश के मुताबिक वर्तमान में धर्मस्थलों को खोला जाना आवश्यक है ताकि धर्मस्थलों पर फूल प्रसाद का विक्रय करने वाले लोगों की रोजी रोटी प्रारंभ हो सके। वही कलेक्टर मनीष सिंह ने कुछ निर्देशो के साथ विश्व प्रसिद्ध सराफा चाट चौपाटी को भी खोलने की अनुमति दी है।

धर्मस्थलों के लिए रहेंगे ये 5 नियम जिनका पालन करना होगा जरूरी

1. लोग मास्क पहनकर और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर ही दर्शन व प्रार्थना कर सकेंगे।
2. सभी पुजारी और श्रद्धालु मास्क ठीक ढंग से लगाएंगे यानि कि नाक के नीचे मास्क नहीं होना चाहिए।
3. सभी बड़े धर्मस्थलों के गर्भगृह में प्रवेश प्रतिबंधित होगा और निश्चित दूरी बनाकर श्रद्धालू दर्शन कर सकेंगे।
4. सभी धर्मस्थलों में स्थायी रूप से चलने वाले अन्न क्षेत्र प्रारंभ होंगे लेकिन 6 फिट की दूरी के नियमो के तहत श्रद्धालुओं को बिठाया जा सकता है।
5. अलग अलग धर्मो के धर्मस्थलों में सेनेटाइजर या साबुन से हाथ धोना हर एक के लिए जरूरी होगा और सभी धर्मस्थलों के प्रबंधन पर इसकी जिम्मेदारी रहेगी ताकि लोग इस बात का पालन करे।

विश्वप्रसिद्ध सराफा चौपाटी इस शर्त पर खुलेगी

रात में लगने वाली सराफा चाट चौपाटी टेक अवे (take away) और टेक होम (take home) के नियम के तहत खुलेगी। यहां दुकानदार मुख्य सराफा बाजार बंद होने के बाद पहले की तरह दुकान खोल सकेंगे और टेक अवे के सिद्धांत पर लोगों को पार्सल दे सकेंगे, इतना ही नहीं सराफा चौपाटी में लोगों का खाना पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा। आदेश में इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने साफ किया है कि यदि किसी भी नियम के पालन में कोताही बरती गई तो प्रावधानों के तहत कार्रवाई की जाएगी।

हालांकि आज दोपहर में ही कलेक्टर मनीष सिंह ने इस बात के संकेत दे दिए थे कि जल्द ही धर्म स्थल खुलेंगे। फिलहाल, इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह के इस फैसले पर अब धर्मस्थल से जुड़े लोग बेहद खुश है क्योंकि भक्तों को अब सीधे दर्शन लाभ मिलेंगे। फिलहाल, इंदौर में कोरोना संक्रमण की रफ्तार तेज है। ऐसे में सभी लोग ऊपर वाले से सभी दिशा निर्देशों का पालन कर ये प्रार्थना जरूर करे कि समूचा विश्व विनाशकारी कोरोना से मुक्त हो क्योंकि इंदौर के लिहाज से ये फैसला बड़ा है। लिहाजा आप मास्क पहने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करे और अपने हाथों को सेनेटाइजर या साबुन से जरूर धोये क्योंकि आपकी और आपके अपनो के स्वास्थ्य की सुरक्षा आपके हाथों में है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here