इंदौर: यम हैं हम, सड़कों पर उतरे यमराज, सिखाया कोरोना का पाठ

एक युवक जब बिना मास्क के नजर आया तो यम बने जवाहर सिंह जादौन ने उससे कहा कि यम हैं हम! और फिर कोरोना के खतरे को बताते हुए मास्क पहनने की सलाह देने के साथ ही उसको सजा के तौर पर कान पकड़कर माफी मांगने को भी कहा।

इंदौर, यमराज

इंदौर,आकाश धोलपुरे। प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर (economic capital indore) इन दिनों कोरोना (corona) का हॉट-स्पॉट (hotspot) बनी हुई है। यहां बीते कई दिनों से न सिर्फ संक्रमण (infection) के मामले तेजी से सामने आ रहे हैं बल्कि दूसरी ओर शहर में कोरोना से मरने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। इसे लोगों की लापरवाही (carelessness) कहें या फिर प्रशासनिक (administrative) तैयारियों की खामियां। बात जो भी हो फिलहाल तो इंदौर डेंजर जोन में है। ऐसे में इंदौर में प्रशासन द्वारा अभी भी लोगों से अपील की जा रही है मास्क पहने, सोशल डिस्टेसिंग का पालन करे और बार बार अपने हाथों को साबुन व सेनेटाइजर से अच्छे से साफ करें। इधर, पुलिस (police) भी सड़कों पर उतरकर लोगों को कोरोना के खतरे से आगाह कर रही है वहीं पिछली बार की ही तरह इस बार भी इंदौर की सड़कों पर यमराज (yamraj) देखने को मिल रहे हैं। दरअसल, यमराज का रूप धारण कर एक पुलिसकर्मी सड़को पर से गुजरने वालों को ये समझाइश देता नजर आ रहा है कि यदि लापरवाही बरती तो ऐसे लोगों के लिए यमलोक के द्वार खुले हैं। ऐसे में सभी प्रोटोकॉल का पालन करें ताकि यमराज उन्हें ले न जाये।

यह भी पढ़ें… मध्य प्रदेश में कोरोना की मार तेज, गुजरात, भिलाई से 450 मेट्रिक टन ऑक्सीजन की उम्मीद

दरअसल, एम.जी. रोड थाने पर पदस्थ आरक्षक जवाहर सिंह जादौन वर्ष 2020 की ही तरह संक्रमण की रफ्तार को देखते हुए लोगों को खुली सड़क पर सीख देते नजर आ रहे हैं। उन्होंने लोगों से अपील की कि भले ही साल बदल गया हो लेकिन कोरोना नहीं बदला है और वो आज भी लोगो की जान लेने पर आमदा है। गुरुवार रात को पुलिस आरक्षक जवाहर सिंह जादौन ने सड़क पर उतरकर लोगों को यमरूपी अंदाज में समझाईश दी। वहीं राह से गुजर रहे वाहन चालकों को वो बोलते नजर आए है कि सभी कोविड नियमो का पालन करें नहीं तो जिंदगी की जंग में वो हार की दहलीज पर खड़े होंगे।

यह भी पढे़ं… बीजेपी विधायक ने मुख्यमंत्री से स्वेच्छानुदान राशि एक करोड़ करने का किया निवेदन

सड़क पर समझाइश के दौरान एक युवक जब बिना मास्क के नजर आया तो यम बने जवाहर सिंह जादौन ने उससे कहा कि यम हैं हम! और फिर कोरोना के खतरे को बताते हुए मास्क पहनने की सलाह देने के साथ ही उसको सजा के तौर पर कान पकड़कर माफी मांगने को भी कहा। इसके बाद सहमे युवक को गलती का अहसास हुआ और उसने यमराज के सामने मास्क पहनकर गलती दोबारा न करने के लिए क्षमा भी मांगी। हालांकि एक पुलिस आरक्षक की पहल का शहर की जनता पर कितना असर होगा ये तो वक्त ही बतायेगा लेकिन आरक्षक द्वारा किए जा रहे इस प्रयास की सराहना हर कोई कर रहा है।