इंदौर : मूंछों पर तांव देने वाले एम.वाय. गोलीकांड की दहशत को पुलिस ने किया ऐसे खत्म, पुलिस हमारी बाप है कहता नजर आया।

वह मूंछों पर ताव देता नजर आया था लेकिन पुलिस ने उसी के इलाके छोटी खजरानी में उसकी लू उतार दी।

इंदौर, आकाश धौलपुरे। एक सप्ताह पहले इंदौर के एम.वाय. अस्पताल परिसर में गोलीकांड को अंजाम देने वाले 5 हजार ईनामी गुंडे सलमान लाला को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। अपने खतरनाक मंसूबो को एक के बाद एक अंजाम देने वाले फरार बदमाश के पुलिस की गिरफ्त में आ जाने के बाद भी हेकड़ी नही गई थी और जब शुक्रवार रात को उसे मेडिकल के लिए ले जाया जा रहा था तो गोलीकांड का मुख्य आरोपी दो बार अपनी मूंछों पर ताव देता नजर आया मानो वो पुलिस को मुंह चिढ़ा रहा हो। वही शुक्रवार को आज पुलिस ने सलमान लाला की हेकड़ी भुलाते हुए उसे उसी के दहशतगर्दी वाले इलाके छोटी खजरानी में ले जाया गया। जहां निकाले गए जुलूस के दौरान मूंछों पर ताव देने वाला बदमाश सलमान लाला उठक बैठक लगाता नजर आया और साथ मे उसके घर व इलाके में कहता नजर आया कि “अपराध करना पाप है और पुलिस हमारी बाप है।” इतना ही नही उसने लोगो से गुजारिश कर ये भी कहा कि अपराध करोगे तो मेरे जैसे हाल होंगे।

यह भी पढ़े…कोर्ट के आदेश को हल्के में लेना टीआई पर पड़ा भारी

दरअसल, एमआईजी थाना क्षेत्र में शोरूम में डकैती मामले में फरार चल रहे सलमान लाला पर 5 हजार का इनाम घोषित था वहीं खजराना थाना क्षेत्र में उस पर संगीन अपराध दर्ज है। इसके बाद फरारी के दौरान ही उसने एक सप्ताह पहले एम्बुलेंस चालक सद्दाम पर गोली चला दी थी और मुख्य आरोपी भी वही था वही घटना में सद्दाम बुरी तरह घायल हो गया था। हालांकि, एम.वाय. गोलीकांड मामले में पुलिस ने सलमान लाला के तीन साथियों को और उसकी मदद करने वाले दो रिश्तेदारों को पहले ही गिरफ्तार कर लिया है।

यह भी पढ़े…इंदौर : महिला मित्र से बात करने के विवाद में 1 छात्र की हत्या 2 अन्य छात्र घायल

बावजूद इसके फरार चल रहा बदमाश सलमान लाला पुलिस गिरफ्त से दूर था। हालांकि, शुक्रवार रात को पुलिस को सूचना मिली तो संयोगितागंज और एम.जी.रोड़ पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए गुंडे सलमान लाला को राजबाड़ा क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस ने उसके पास से पिस्टल और जिंदा कारतूस बरामद किया था। बावजूद इसके वह मूंछों पर ताव देता नजर आया था लेकिन पुलिस ने उसी के इलाके छोटी खजरानी में उसकी लू उतार दी।